DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमरिका-पाकिस्तान करार स एतराज नहीं

भारत न संकेत दिया है कि उस अमरिका और पाकिस्तान क बीच असैन्य परमाणु करार पर कोई एतराज नहीं होगा, क्योंकि उसका मानना है कि प्रत्येक दश को शांतिपूर्ण उद्दश्यों क लिए परमाणु ऊर्जा का इस्तमाल करन का अधिकार है। 123 समझौत पर हस्ताक्षर क बाद एक संयुक्त संवाददाता सम्मलन को संबोधित करत हुए विदश मंत्री प्रणव मुखर्जी न कहा-हम शांतिपूर्ण उद्दश्यों क लिए असैन्य परमाणु सहयोग को प्रोत्साहित करना चाहंग। पाकिस्तान की ओर स की गई भारत जस परमाणु करार की मांग पर मुखर्जी न कहा- हम समझत हैं कि हरेक दश को शांतिपूर्ण उद्दश्यों क लिए परमाणु ऊर्जा क इस्तमाल का हक है। परमाणु करार को लेकर पाकिस्तान की आशंकाओं क बार मं पूछ गए प्रश्न क जवाब मं मुखर्जी न कहा कि भारत पाक से संबंध बहतर बनान क लिए प्रतिबद्ध है।ड्ढr ड्ढr राइस, मुखर्जी ने किये समझौते पर हस्ताक्षरड्ढr वाशिंगटननई दिल्ली (एजेंसियां)। भारत व अमेरिका के बीच संबंधों की एक नई गाथा लिखते हुए अमेरिकी विदेश मंत्री कोंडोलीजा राइस और विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी ने शुक्रवार की देर रात बहुचर्चित असैन्य परमाणु करार से जुड़े 123 समझौते पर हस्ताक्षर कर दिये। इसके साथ ही एटमी करार पर अमल का रास्ता साफ हो गया है। बुधवार को अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने करार संबंधी बिल पर हस्ताक्षर किए थे। करार को लागू करने के लिए दोनों देशों का 123 समझौते पर हस्ताक्षर करना जरूरी था। इसके साथ ही अमेरिका से भारत को परमाणु रिएक्टर और ईंधन मिलने की राह की सारी बाधाएं दूर हो गई हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अमरिका-पाकिस्तान करार स एतराज नहीं