अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विकलांग शिविर में सामान वितरित

अपाहिा, नि:शक्त, विकलांगों की सेवा सहित अन्य पीड़ितों की सेवा ईश्वर की पूजा समान है। उक्त बातें पटना न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति एस.एन. हुसैन ने व्यक्त की। वे शनिवार को बेउर स्थित इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ हेल्थ एजूकेशन एण्ड रिसर्च में मिशन रिहैब-2010 के तत्वाधान में विकलांग शिविर में लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। संस्था प्रमुख अनिल सुलभ ने कहा कि राज्य में विकलांगों के पुनर्वास के लिए ठोस पहल करने की जरूरत है। इस शिविर के माध्यम से दो दर्जन से अधिक विकलांगों के बीच तिपहिया साइकिल, व्हील चेयर, वैशाखी, कैलिपर, पोलियो के जूते एवं श्रवण यंत्र का नि:शुल्क वितरण किया गया। इस मौके पर पटना विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डा. एस.एन.पी. सिन्हा, मगध विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डा. मेजर बलवीर सिंह ‘भसीन’, डा. पी.आर.आर. सिन्हा सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विकलांग शिविर में सामान वितरित