DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विसर्जित प्रतिमाएं सड़क पर फेंके जाने से भड़का गुस्सा

शुक्रवार की रात को कुछ लोगों ने मां दुर्गा और गणेश की विसर्जित प्रतिमाओं को तालाब से निकाल कर खूटी-सिमडेगा सड़क पर फेंक दिया। इसके बाद इलाके में तनाव फैल गया। गुस्साये लोगों ने शनिवार को सुबह सात बजे से दोपहर बारह बजे तक सड़क जाम रखी। घटना तोरपा प्रखंड और रनिया थाने के मरचा गांव की है। ग्रामीणों ने 24 घंटे के भीतर दोषियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर बेमियादी सड़क जाम, बंद और आमरण अनशन करने की चेतावनी दी है। मरचा गांव के लोगों ने शुक्रवार की दोपहर को सड़क के किनारे स्थित सटाल छठ तालाब में प्रतिमाओं का विसर्जन किया था। शनिवार की सुबह ये प्रतिमाएं सड़क पर मिलीं। कुछ ही देर में तीन-चार सौ ग्रामीण वहां जमा हो गये और सड़क जाम कर दी। इस बीच भाजपा विधायक कोचे मुंडा समेत कई नेता मरचा पहुंचे। नेताओं और ग्रामीणों ने इस घटना को इस घटना को साजिश और हिंदुओं की धार्मिक भावना से खेलवाड़ बताया। घटना की जानकारी मिलने पर सीओ पवन कुमार और कई थानों की पुलिस वहां पहुचे। इनके कार्रवाई का आश्वासन देने पर जाम हटाया गया। प्रशासन ने एहतियात के तौर पर मरचा और आसपास के इलाके में चौकसी बढ़ा दी है।जाम हटने के बाद ग्रामीणों ने पूजा-अर्चना कर प्रतिमाओं का पुन: विसर्जन किया।ड्ढr ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विसर्जित प्रतिमाएं सड़क पर फेंके जाने से भड़का गुस्सा