अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अफचचगानिस्तान में 100 तालिबानी मारे गए

अफगानिस्तान में उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) और अफगानिस्तानी फौजों की कार्रवाई में शनिवार की रात 100 तालिबानी विद्रोही मारे गए हैं। प्रांतीय गर्वनर के प्रवक्ता दाऊद अहमदी ने रविवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यह कार्रवाई दक्षिणी प्रांत हेलमंद की राजधानी लश्कर गाह के करीब की गई। मृतकों में तालिबानी विद्रोहियों के एक गुट का सरगना मुल्ला कुदरतुल्ला भी शामिल है। अफगानी और नाटो की फौजों में कोई हताहत नहीं हुआ है। हेलमंद में तैनात नाटो के सैनिकों में अधिकांश ब्रिटिश हैं। अहमदी ने बताया कि तालिबानी विद्रोही लश्कर गाह पर शनिवार रात हमले की तैयारी कर रहे थे लेकिन संयुक्त सेना ने पहले ही कार्रवाई कर दी। संघर्ष में अफगान पुलिस का एक वाहन क्षतिग्रस्त हो गया लेकिन इसके अलावा और कोई नुकसान नहीं हुआ है। नाटो नीत अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा सहायता बल के प्रवक्ता ने बताया कि लश्कर गाह में शनिवार को तालिबानी विद्रोहियों के खिलाफ हवाई हमला किया गया। उसने हमले में तालिबानी विद्रोहियों के मारे जाने की भी पुष्टि की। मुख्यतौर पर रेगिस्तानी क्षेत्र हेलमंद में करीब आठ हजार ब्रिटिश सैनिक तैनात हैं। वर्ष 2006 में उनकी तैनाती के बाद से इस प्रांत में तालिबानी विद्रोहियों के साथ उनका रोज ही संघर्ष होता है। लेकिन लश्कर गाह आमतौर पर शांत रहता है। इस प्रांत में हेलमंद नदी के किनारे बसे क्षेत्रों में दुनिया में सर्वाधिक अफीम की खेती होती है। उधर, पाकिस्तान की पार्टी मुत्ताहिदा कौमी मूवमंट (एमक्यूएम) क निर्वासित प्रमुख अल्ताफ हुसैन न कहा है कि तालिबान और अलकायदा इस्लाम और पाकिस्तान की छवि धूमिल कर रहा है। हुसैन न कहा कि एमक्यूएम नहीं चाहती कि पाकिस्तान पर कोई मुल्ला या धार्मिक नता शासन कर। उन्होंन कहा, ‘एमक्यूएम आतंकवाद को खारिा करती है और सहिष्णुता पर विश्वास करती है। ’ हुसैन न लंदन स अपन 55वं जन्मदिन पर दक्षिण अफ्रीका क एमक्यूएम सदस्यों को टलीफोन पर संबोधित करत हुए कहा, ‘‘हम आतंकवाद क सभी रूपों को खारिा करत हैं। तालिबान इस्लाम और पाकिस्तान की छवि धूमिल कर रहा है। हम नहीं चाहत हैं कि मुल्ला या धार्मिक नता पाकिस्तान पर शासन कर।’ हुसैन का संबोधन सुनन 2,000 स अधिक लोग इकट्ठा हुए थ। उन्होंन कहा कि उनकी पार्टी मं पाकिस्तान मं मुस्लिम, हिंदू, ईसाई या सिख सभी को समान अधिकार प्रदान करना चाहती है। उन्होंन कहा कि व दश स भदभाव मिटाना चाहत हैं। उधर, अफगानिस्तान की सीमा स लग पाकिस्तान क कबाइली इलाक मं, अमरिकी विमानों द्वारा शनिवार दर शाम किए गए संदिग्ध मिसाइल हमल मं कम स कम तीन लोग मार गए। उत्तरी वजीरिस्तान जिल क मुख्य कस्ब मिरांशाह क निकट माच गांव क एक मकान पर शनिवार दर शाम दो मिसाइलं दागी गईं। समझा जाता है कि इस मकान का इस्तमाल तालिबान की बैठकों क लिए किया जाता था। एक सुरक्षा अधिकारी न गोपनीयता की शर्त पर बताया, ‘मकान क खंडहर स तीन शव और दो घायलों को निकाला गया है।’अधिकारी न बताया कि मृतकों और घायलों की संख्या मं क्षाफा हो सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अफचचगानिस्तान में 100 तालिबानी मारे गए