अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गया जेल में कैदियों ने मचाया हंगामा

गया सेंट्रल जेल के कैदियों ने सोमवार को हंगामा किया। सेंट्रल जेल के कैदी इस बात को लेकर काफी गुस्से में थे कि बीमार कैदियों को इलाज के लिए बाहर भेजने की जटिल प्रक्रिया से उनकी मौत हो जा रही है। विभिन्न बीमारियों से ग्रसित कैदी विजय शर्मा की मौत जेल अस्पताल से अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कालेज अस्पताल पहुंचने के कुछ ही घंटे बाद रविवार को हो गई। जेल अस्पताल में भर्ती नक्सली बंदी कामेश्वर पासवान हाइड्रोसिल में जख्म से परेशान है। उसे विशेष इलाज के लिए एएनएमएमसीएच में भर्ती कराना जरूरी है,लेकिन मेडिकल बोर्ड का गठन और जिला प्रशासन के वरीय अधिकारियों की अनुमति नहीं मिलने से उसे बाहर नहीं भेजा जा रहा है।ड्ढr ड्ढr कैदी इस बात से काफी आक्रोशित थे। बंदियों ने जेल में हंगामा करने के बाद आमरण-अनशन शुरू कर दिया। नक्सली बंदी मधुसूदन शर्मा (कोराप) के नेतृत्व में बंदियों का एक दल आमरण-अनशन पर बैठा है। इसके बाद जेल प्रशासन ने सोमवार को मेडिकल बोर्ड का गठन कराया और कैदी कामेश्वर पासवान की जांच कराई। मेडिकल बोर्ड की अनुशंसा पर डीएम-एसपी ने जख्म से परेशान कैदी को एएनएमएमसीएच में इलाज के लिए भेजने का आदेश दे दिया है। जेल अधीक्षक विश्वनाथ प्रसाद ने बताया कि बीमार कैदियों को इलाज के लिए बाहर भेजने की प्रक्रिया से कैदी खिन्न थे। उन्होंने कहा कि हंगामा व आमरण-अनशन पर बैठे कैदियों को समझा-बुझाकर शांत कराया गया है तथा नक्सली बंदी कामेश्वर पासवान को विशेष इलाज की अनुमति मिल गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गया जेल में कैदियों ने मचाया हंगामा