DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षकों के टैलेंट पर ही ऑटोनॉमी

रांची यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो एए खान ने कहा है कि रांची कॉलेज और मारवाड़ी कॉलेज को ऑटोनॉमस का दर्जा मिलना शिक्षकों की काबिलियत पर निर्भर करता है। शिक्षक यदि योग्य हुए, तो कॉलेज ऑटोनॉमस होंगे। यदि नहीं होंगे तो कॉलेज ऑटोनॉमस नहीं होंगे। शिक्षकों की गुणवत्ता, आधारभूत संरचना और उपकरणों के आधार पर ही ऑटोनॉमस का दर्जा मिलेगा। नॉलेज कमिशन की अनुशंसा के आलोक में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए पूर देश में अच्छे कॉलेजों को ऑटोनॉमस बनाने की प्रक्रिया शुरू हुई है। प्रो खान ने उक्त बातें 14 अक्तूबर को प्रेस मीट में कही।ड्ढr उन्होंने कहा कि ऑटोनॉमस कॉलेजों के शिक्षक और कर्मचारियों की सेवा शर्तो में कोई बदलाव नहीं होगा। उनकी सेवा शर्त यूनिवर्सिटी एक्ट के अनुसार ही रहेगी। कॉलेजों का अपना कोर्स स्ट्रक्चर होगा। वित्तीय और सलाहकार समिति का गठन होगा। सिर्फ एकेडेमिक परिवर्तन होगा। वित्तीय और अन्य प्रशासनिक अधिकार यूनिवर्सिटी के पास रहेंगे। छह साल तक कॉलेज ठीक से चला, तो डीम्ड यूनिवर्सिटी का दर्जा मिल सकता है। नॉलेज कमिशन के अनुसार 2020 तक 1500 ऑटोनॉमस कॉलेज बनाने हैं। ऑटोनॉमस कॉलेजों के सामान्य कोर्स में हर साल दस सीटें बढ़ेंगी।ड्ढr आज आयेगी यूजीसी टीमड्ढr रांची यूनिवर्सिटी के दो कॉलेजों को ऑटोनॉमस बनाने के प्रस्ताव के आलोक में यूजीसी की इंस्पेक्शन टीम 15 अक्तूबर को रांची आ रही है। टीम की अध्यक्ष बेंगलुरु की पी सिल्विया हैं। अन्य सदस्यों में हैदराबाद के पी रमैया, सीएमएस कॉलेज कोयंबटोर के प्रो पीसी अब्राहम, खालसा कॉलेज दिल्ली के जसविंदर सिंह और यूजीसी की अंडर सेक्रेट्ररी पार्वती बोस शामिल हैं।ड्ढr आटोनॉमस कालेज में इंडस्ट्रीयल डिपार्टमेंटड्ढr वीसी प्रो एए खान ने कहा है कि ऑटोनॉमस कॉलेजों में इंडस्ट्रीयल डिपार्टमेंट खोले जायेंगे। ये डिपार्टमेंट वोकेशनल कोर्स के छात्रों की मदद करंगे। प्लेसमेंट सेल और उद्योग से जुड़े संस्थानों से संपर्क कर रोगार के अवसर उपलब्ध करायेंगे।ड्ढr शिक्षकों की गुणवत्ता जाचेंगे छातड्र्ढr वीसी प्रो एए खान ने कहा है कि ऑटोनॉमस कॉलेजों में एसी व्यवस्था होगी कि छात्र शिक्षकों की गुणवत्ता जांच सकते हैं। वर्ष 200से रांची यूनिवर्सिटी के सभी कॉलेजों में यह व्यवस्था लागू की जायेगी। यूजीसी के गाइड लाइन में भी यह प्रावधान है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शिक्षकों के टैलेंट पर ही ऑटोनॉमी