अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फैक्ट्री के लिए जेल भी मंजूर

रायबरली। रल कोच फैक्ट्री मुद्दे पर मंगलवार को कांग्रेस ने मायावती सरकार पर पलटवार किया। पाबंदियों के बावजूद सोनिया गांधी लालगंज पहुंचीं। हालांकि में धारा-144 लगने की वजह से उन्होंने जनसभा नहीं की लेकिन साफ कहा कि ‘विकास पर राजनीति ठीक नहीं। अमेठी-रायबरली मेरा घर है। कोई किसी को उसके घर आने से कैसे रोक सकता है। जरूरत पड़ी तो मैं जेल जाने को तैयार हूं।’ लोग पुलिस की मौजूदगी में ही ‘सोनिया जिन्दाबाद’ और ‘मायावती मुर्दाबाद’ नार लगा रहे थे। फुर्सतगंज हवाई अड्डे पर ही हाारों की भीड़ उमड़ पड़ी। 600 से ज्यादा महिलाएं सड़क पर एकाुट हो सोनिया से मिलीं। उनका कहना था- मैडम, रल कोच फैक्ट्री को बचा लें। इस तरह के कई मंजर रायबरली की सड़कों पर दिखे। सोनिया को ऐहार की तरफ से लालगंज जाना था। इस रास्ते के किनार ही कोच फैक्ट्री का निर्माण स्थल है जहां भूमि पूजन होना था। लेकिन प्रशासन ने कांग्रेस अध्यक्ष के काफिले को नहीं जाने दिया। काफिले को सतांव के रास्ते लालगंज आना पड़ा वहां प्रेस से मुखातिब सोनिया ने कहा, ‘फैक्ट्री के भूमि पूजन के मौके पर मैं यहां खुशी मनाने आना चाहती थीं। लेकिन अब यह मामला अदालत में है। मैं कोई टिप्पणी नहीं कर सकती।’ उन्होंने कहा कि आठ और परियोजनाएं हैं जिन्हें केन्द्र सरकार क्लीयरंस दे चुकी है लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने रुकावटें खड़ी कर रखी हैं। इस पर आंदोलन छेड़ने के सवाल पर सोनिया ने कहा कि जरूरत पड़ी, तो जेल जाने को भी तैयार हैं।ड्ढr भोपाल रैली पर भी संकट : सोनिया गांधी की 1अक्टूबर को प्रस्तावित भोपाल रैली क लिए कांग्रस को जगह नहीं मिल रही है। इसक चलत रैली पर संकट क बादल मंडरान लग हैं। प्रदश कांग्रस न कांग्रस न राज्य सरकार पर अनुमति न दन का आरोप लगाया है। ब्यूरो

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फैक्ट्री के लिए जेल भी मंजूर