अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लंदन फिल्मोत्सव में भारतीय फिल्मों का जलवा

बुधवार से शुरु हुए प्रतिष्ठित लंदन फिल्मोत्सव में सशक्त अदाकारा नंदिता दास के निर्देशन में बनी फिल्म ‘फिराक’ के अलावा कई भारतीय फिल्में अपनी उपस्थिति दर्ज करा रही हैं। इस फिल्मोत्सव में भारत समेत करीब 43 देशों की फिल्में प्रदर्शित की जाएंगी। फिल्मोत्सव की शुरुआत बुधवाार को अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन और मशहूर टेलीविजन शख्सियत परास्ट के बीच की कशमकश पर आधारित रान हावर्ड की फिल्म ‘फरास्ट निक्सन’ से हुई। नंदिता दास के निर्देशन में बनी पहली फिल्म ‘फिराक’ का प्रदर्शन गुरुवार को होगा। गुजरात की पृष्ठभूमि पर आधारित इस फिल्म को लेकर यहां काफी चर्चा है। फिल्म में परेश रावल, नसीरुद्दीन शाह. दीप्ति नवल और संजय सूरी ने काम किया है। भारत में यह फिल्म जनवरी में रिलीज होगी। इस फिल्म को महोत्सव के फप्रिस्की अवार्ड के लिए भी नामांकित किया गया है। इस सिलसिले में नंदिता दास, परेश रावल, और संजय सूरी के साथ लंदन पहुंच गई है। इस फिल्मोत्सव में ‘फिराक’ के अलावा जो भारतीय फिल्म शामिल की गई है उनमें श्याम बेनेगल की ‘वेल्कम टू सजनपुर’ भी है जिसे भारत में काफी पसंद किया गया है। इसके अलावा संतोष सिवान की फिल्म ‘तहान’ भी यहां दिखाई जाएगी जो एक कश्मीरी बच्चे और उसके गधे के बीच रिश्ते पर आधारित है। तमिल सिनेमा की आेर से ‘क्िवक गन मुरुगन’ शामिल की गई है। भारत के अलावा भारत और पाकिस्तान के सम्बन्धों पर आधारित नंदिता दास अभिनीत फिल्म ‘रामचंद पाकिस्तानी’ भी दिखाई जाएगी। इसका निर्देशन मेहरीन जब्बार ने किया है। जेम्स बांड की अगली फिल्म क्वार्टम आफ सोलेस 2अक्टूबर को दिखाई जाएगी। फिल्मोत्सव का समापन 30 अक्टूबर को मशहूर निर्देशक डैनी बाएल की फिल्म ‘सलमडाग मिलियनेयर’ से होगा। इस फिल्म में अनिल कपूर और इरफान खान ने काम किया है और मुख्य भूमिका में हैं भारतीय मूल के ब्रितानी युवा अभिनेता देव पटेल। यह फिल्म भारतीय राजनयिक विकास स्वरुप की पुस्तक ‘क्यू एड ए’ पर आधारित है जो बेस्टसेलर पुस्तकों में शुमार है। बांग्लादेश की पृष्ठभूमि में बनी ‘द लास्ट ठाकुर’ भी फिल्मोत्सव में दिखाई जाएगी जिसे सादिक अहमद ने बनाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लंदन फिल्मोत्सव में भारतीय फिल्मोंका जलवा