अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ली ने कहा, दबाव में है भारतीय टीम

ऑस्ट्रलियाई क्रिकट टीम क तज गंदबाज बट्र ली न कहा है कि बेंगलुरु टस्ट को जानबूझकर ड्रॉ करान वाली भारतीय टीम दबाव क साथ मोहाली टस्ट में खलगी। मोहाली मं शुक्रवार स खल जान वाल दूसर टस्ट मैच स पूर्व अभ्यास सत्र क दौरान पत्रकारों को संबोधित करत हुए ली न कहा, ‘मुझ लगता है कि भारतीय टीम न जानबूझकर जीतन की कोशिश नहीं की। हमन अपना स्वाभाविक खल दिखाया लकिन भारतीय टीम रक्षात्मक रूप मं दिखी। इस लिहाज स दूसर टस्ट मं उस पर दबाव होगा।’ड्ढr ली का मानना है कि भारतीय टीम भल ही यह दावा कर कि उसन बेंगलुरु में मनोवैज्ञानिक जीत हासिल की है लकिन ऑस्ट्रलियाई टीम कुल मिलाकर अपन प्रयास स संतुष्ट है। बकौल ली, ‘हमन बेंगलुरु में सकारात्मक खल दिखाया। हम उस जारी रखन की कोशिश करंग। हमारा लक्ष्य भारत को एक बार फिर दबाव में लाना होगा।’ ली न कहा कि उनकी टीम भारतीय टीम क पुछल्ल बल्लबाजों स निपटन क लिए खास रणनीति क तहत मोहाली मं उतरगी। उन्होंन कहा, ‘हम भारत क प्रमुख बल्लबाजों को रन बनान स रोकन मं सफल रह लकिन पुछल्लों न बढ़िया खल दिखाया। हम सब बैठकर पुछल्लों क खिलाफ रणनीति बनाएंग।’ तूफानी तेज गेंदबाज ली ने कहा, ‘भारत के पास जीत का माद्दा नहीं है तभी तो वह पहले टेस्ट में आखिरी दिन जीत के लिए नहीं बल्कि ड्रॉ के लिए खेला था।’ ली ने कहा कि भारत को पहले टेस्ट में जीत के लिए 2रनों की जरूरत थी और उसके पास 83 ओवर थे। लेकिन उसने मैच ड्रॉ करा लिया। ली ने कहा, ‘इसका मतलब है कि वे जीत के लिए नहीं खेल रहे थे। भारत ड्रॉ करके ही खुश था। हम वैसी ही क्रिकेट खेल रहे हैं जैसा हम खेलना चाहते हैं।’ भारतीय तेज गेंदबाज जहीर खान के ऑस्ट्रेलियाई टीम के अति सुरक्षात्मक खेल के बयान पर ली ने कहा, ‘हम हमेशा से आक्रामक क्रिकेट खेलते रहे हैं। भारतीय गेंदबाज हमारे बीस विकेट आउट करने में सफल नहीं हो सके। यानी हम सुरक्षात्मक नहीं खेले। वैसे भी इससे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता है।’ ली ने कहा इस बार भारत के पुछल्ले बल्लेबाजों को जल्दी आउट करने की रणनीति पर भी विचार कर रहे हैं। भारत पहली पारी में 232 रन पर सात विकेट गंवाकर संघर्ष कर रहा था लेकिन हरभजन सिंह और जहीर खान ने आठवें विकेट के लिए महत्वपूर्ण 80 रन जोड़कर भारत को हार के खतरे से बचा लिया था। ली ने कहा, ‘बेंगलुरु के विकेट में इतनी उछाल नहीं थी कि गेंद को कंधे की ऊंचाई तक लाया जा सके। इसलिए हमारी सारी योजना खराब हो गई। अब हमें अपनी योजना में बदलाव लाने की जरूरत है।’ उन्होंने कहा कि वह बेंगलुरु में अपने प्रदर्शन से खुश हैं। उन्होंने कहा, ‘भले ही मैं वहां ज्यादा विकेट नहीं ले सका। लेकिन मैंने अच्छी गेंदबाजी की। यह क्रिकेट है ऐसा चलता रहता है।’ उन्होंने कहा, ‘पहले टेस्ट में गेंद विकेटकीपर तक नहीं पहुंच पा रही थी। जिसके कारण हम 3रन बाई के दे बैठे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ली ने कहा, दबाव में है भारतीय टीम