अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आर्थिक सुनामी की आहट

विश्वव्यापी मंदी की मार से अब भारत में भी लोगों की नौकरियां छिनने लगी हैं। जेट एयरवेज ने अपने करीब 800 कर्मियों को तत्काल नौकरी से निकाल दिया है और जल्दी ही 1100 और लोगों की छंटनी की जाएगी। इस कड़े फैसले से पहले हैदराबाद में आयोजित चार दिन के इंडिया एविएशन 2008 के मौके पर विभिन्न एयर लाइनों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों की बंद कमर में बैठक हुई। सूत्रों के मुताबिक बैठक में इस बात पर चर्चा और सहमति हुई कि एयरलाइनों को बचाने के लिए अनावश्यक खर्चो में तुरंत कटौती की जाए।ड्ढr ड्ढr इसके अलावा पेप्सिको अगले तीन वर्षों में 3300 वित्तीय कंपनी चोलामंडलम ने भी अपने 200 कर्मचारियों को हटाने की घोषणा की है। छंटनी मसले पर उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल ने कहा है यह कंपनी का आंतरिक मामला है। जेट एयरवेज के छंटनीग्रस्त करीब 300 कर्मचारियों ने बुधवार को एयरलाइंस कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया। इस बीच जेट एयरवेज के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वोल्फगांग प्रोक शहाउर ने कहा कि कंपनी को दिवालिया होने से बचाने के लिए यह फैसला लिया गया। किंगफिशर के मालिक विजय माल्या ने छंटनी के बार में कहा कि कल क्या होगा, इसकी भविष्यवाणी मैं नहीं कर सकता। मुंबई में राज ठाकर ने धमकी दी कि अगर कर्मी वापस न लिए तो मुंबई से जेट की कोई उड़ान नहीं भरने दी जाएगी।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आर्थिक सुनामी की आहट