अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

15 लाख किसानों को इस साल क्रेडिट कार्ड

उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राज्य में 15 लाख किसानों को इस वर्ष किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) दिया जायेगा। नौ जिलों के शत प्रतिशत किसानों को केसीसी मिलना है। जो शिकायतें मिल रहीं है उससे पता चलता है कि बैंक इस कार्य में कोताही बरत रहे हैं। वे गुरुवार को गांधी मैदान में आयोजित बीज वितरण समारोह सह किसान मेला में उपस्थित किसानों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि किसान क्रेडिट कार्ड के तहत तीन लाख तक र्का देने का नियम है। लेकिन बैंक किसानों को औसतन 25 से 30 हाार रुपये ही दे रहे हैं।ड्ढr ड्ढr र्का की राशि का बीमा भी नहीं कराया जाता। उन्होंने किसानों का आह्वान किया कि वे बैंकों पर शांति पूर्वक दबाव बनाये रखें ताकि उनके अधिकारों का हनन न हो। हर बैंक के क्षेत्र में एक किसान क्लब का गठन होना है। बैंक इन क्लबों को ढेर सारी सुविधाएं देगा। इस मामले में भी किसान सजग रहें और अधिक से अधिक किसान क्लबों का गठन करं। कृषि मंत्री नागमणि ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार किसानों को आधार बीज दिया जा रहा है। दो फरवरी को शहीद जगदेव जयंती पर ‘कृषि विकास गांव की ओर’ कार्यक्रम के दूसर चरण की शुरुआत होगी। तब किसानों को हर हाल में जांच के लिए मिट्टी लानी होगी। पहले चरण का यह कार्यक्रम सफल रहा। पहली बार वैज्ञानिकों ने किसानों के दरवाजे पर उन्हीं की भाषा में बात की। समारोह को ऊरा मंत्री रामाश्रय प्रसाद सिंह और गन्ना विकास मंत्री गौतम सिंह के अलावा किसान आयोग के अध्यक्ष रामाधार और कृषि विभाग के प्रधान सचिव भानु प्रताप शर्मा ने भी संबोधित किया। ध्न्यवाद ज्ञापन किया कृषि निदेशक बी राजेन्दर ने।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 15 लाख किसानों को इस साल क्रेडिट कार्ड