DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूरी मतगणना प्रक्रिया की वीडियोग्राफी होगी

प्रमाणपत्र लेने के लिए प्रत्याशी के साथ केवल चार व्यक्ित कक्ष के भीतर जा सकते हैंड्ढr प्रदेश के सभी 80 लोकसभा क्षेत्रों में पड़े मतों की गिनती का काम कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच सबेरे आठ बजे से 72 जिलों में बनाए गए मतगणना केन्द्रों में एक साथ शुरू होगा। पूरी मतगणना प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई जाएगी। आयोग ने यह भी निर्णय लिया है कि परिणाम घोषित होने के बाद सांसद चुने जाने का प्रमाणपत्र लेने के लिए प्रत्याशियों के साथ केवल चार व्यक्ित ही कक्ष के भीतर जा सकते हैं। कोई भीड़ नहीं जाएगी। आयोग ने मतगणना केन्द्रों पर शीतल पेयजल, छाया तथा प्राथमिक चिकित्सा की व्यवस्था अनिवार्य रूप से कराए जाने के आदेश दिए हैं।ड्ढr मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुज कुमार बिश्नोई ने बताया कि प्रत्याशियों द्वारा जिलाधिकारी की अनुमति लेकर ही विजय जुलूस निकाला जा सकता है क्योंकि अधिकाँश जिलों में धारा 144 लागू है। प्रत्याशी आदि को मतगणना हाल में मोबाइल ले जाने की इजाजत नहीं है। उन्होंने कहा कि ईवीएम स्ट्रांग रूम खोलते समय वीडियोग्राफी कराई जाएगी। प्रत्याशियों से कहा गया है कि वे स्वयं या उनके प्रतिनिधि इस मौके पर अवश्य मौजूद रहें। पूरे प्रदेश में चुनाव आयोग द्वारा नियुक्त किए गए 243 केन्द्रीय प्रेक्षक मतगणना की पूरी देखरेख और निगरानी करेंगे। मतगणना के लिए मतगणना कर्मियों की तैनाती रैण्डमाइजेशन के आधार पर होगी। कर्मियों को शनिवार की सबेरे ही यह बताया जाएगा कि उनकी ड्यूटी किस टेबल पर है। हर टेबल पर माइक्रो प्रेक्षक के रूप में केन्द्रीय कर्मचारी नियुक्त रहेगा। हर राउण्ड की मतगणना के बाद रैण्डम चेकिंगग की जाएगी। इसके लिए एक या दो अतिरिक्त माइक्रो प्रेक्षक लगाए जा सकते हैं। वेबसाइट पर राउण्डवार डाटा सीधे उपलब्ध होगा।ड्ढr उन्होंने कहा कि मतगणना के दौरान कम से कम दो स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था रहेगी। बारिश तथा आग लगने की घटनाओं से निपटने के लिए सारे बन्दोबस्त किए जाएँगे।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पूरी मतगणना प्रक्रिया की वीडियोग्राफी होगी