अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुरु निवास से निकलेगी अंतिम यात्रा, देश-विदेश से पहुंचे अनुयायी

मधुमंजूषा ध्यान मंदिर, हेहल (गुरु निवास) में गुरुवार को हाारों अनुयायियों ने आनंदमार्ग प्रमुख आचार्य श्रद्धानंद अवधूत का अंतिम दर्शन किया। गुरु के श्रीचरणों में पुष्प चढ़ा कर श्रद्धा अर्पित की। इस बीच आनंदमार्ग केंद्रीय समिति की बैठक हुई। इसमें सर्वसम्मति से आनंदशीला खलारी रोड में 17 अक्तूबर को श्रद्धानंदजी के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार करने का निर्णय लिया गया। साथ ही फैसला लिया गया कि नये पुरोधा प्रमुख के निर्वाचन तक पुरोधा बोर्ड संस्था का कार्यभार संभालेगा। आचार्य गणाधिशानंद अवधूत और सुधांशु प्रसाद ने बताया कि शुक्रवार की सुबह सदगुरु निवास से अंतिम यात्रा निकाली जायेगी। इसमें स्थानीय सहित देश-विदेश से आये संन्यासी-ब्रह्मचारी और अनुयायी हिस्सा लेंगे। आनंदमार्ग की मास्टर यूनिट, खलारी रोड पहुंचने पर दस बजे पुरोधा प्रमुख की अंत्येष्टि होगी। आनंदमार्ग प्रचारक संघ के महासचिव आचार्य ध्रुवानंद अवधूत मुखाग्नि देंगे। गणाधिशानंदजी ने बताया कि मधुमंजूषा ध्यान मंदिर में 1नवंबर को श्रद्धानंदजी का श्रद्धाकर्म होगा। कार्यक्रम सुबह दस से तीन बजे तक चलेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गुरु निवास से निकलेगी अंतिम यात्रा, देश-विदेश से पहुंचे अनुयायी