DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धान पर 50 रुपए अतिरिक्त बोनस

सरकार ने धान पर 50 रुपए प्रति क्िवंटल के अतिरिक्त बोनस की गुरुवार की घोषणा की। गुजरात के सीमावर्ती क्षेत्रों को शेष भारत से जोड़ने और वहां के खनिज एवं सीमेन्ट उद्योग से माल ढुलाई कराने के उद्देश्य से केन्द्रीय मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति ने भुज-नालिया रेलमार्ग का अमान परिवर्तन कर उसे नाचूर तक बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। इसके साथ ही सरकार ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में मातृत्व लाभ को भी शामिल करने का फैसला किया है।ड्ढr ड्ढr प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति की बैठक में यह फैसला किया गया। मंत्रिमंडल ने पशुओं में संक्रामक रोग नियंत्रण विधेयक 2005 में कई संशोधनों को भी स्वीकृति प्रदान की है। घरलू पर्यटन एवं होटल उद्योग को मजबूत करने के लिए सरकार ने अहम फैसला करते हुये देश में 1नये होटल प्रबंधन संस्थानों की स्थापना को हरी झंडी दे दी है। इसके साथ ही देश में मौजूद औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के जरिए हास्पिटैलिटी शिक्षा भी शुरू करने को भी मंजूरी दी गई है।ड्ढr विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री कपिल सिब्बल ने संवाददाताओं को बताया कि यह 2008-0े पूरे खरीफ सीजन के न्यूनतम समर्थन मूल्य के अलावा होगा। सरकार ने सामान्य श्रेणी के धान का समर्थन मूल्य 850 रुपए और ग्रेड ए धान का समर्थन मूल्य 880 रुपए घोषित किया था। मातृत्व लाभ बीमा योजना के मौजूदा प्रीमियम 750 रुपए प्रति लाभार्थी की धनराशि के तहत ही मिलेगा। यह लाभ तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है। इससे गरीबी की रेखा के नीचे रहने वाली महिलाओं को अस्पताल में प्रसव की सुविधा मिल सकेगी। राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना गरीबी की रेखा के नीचे रहने वाले लोगों के कल्याण के लिए अक्तूबर 2007 में शुरु की गई थी तथा यह एक अप्रैल 2008 से लागू हो गई। अनेक राज्यों ने लाभार्थियों में स्मार्ट कार्ड वितरित कर दिए हैं तथा अन्य में यह प्रक्रिया जारी है। इस वर्ष 23 सितंबर तक तीन लाख से अधिक स्मार्ट कार्ड जारी किए जा चुके हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: धान पर 50 रुपए अतिरिक्त बोनस