अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विजिलेंस को जनता बताएगी किसने किया घोटाला

विजिलेंस को अब जनता भी बताएगी कि किसने कहां और कितना किया घोटाला! या सब कुछ ठीक-ठाक से हुआ। पटना में जल जमाव की समस्या के निदान के लिए खर्च हुई राशि का ‘थाह-पता’ लगाने में जुटा विजिलेंस जल्द ही पब्लिक से यह सब जानने के लिए एक टेलीफोन और मोबाइल नंबर भी सार्वजनिक करगा। इन नंबरों पर जल जमाव की त्रासदी झेल चुके पटना के लोग यह बताएंगे कि कौन, कितना और कहां गटक गया। उनके मुहल्ले में नाली और मैनहोल साफ करने के नाम पर क्या हुआ। कितनी बार मैनहोल में ‘फट्ठा’ मारा गया। कितनी बार और कितने घंटे पंपिंग सेट चले। जहां जरूरत थी वहां चले भी या फिर दस्तावेजों में ही ‘धड़धड़ा’ कर रह गए।ड्ढr ड्ढr दस्तावेजों में पंपिंग सेटों ने कितना डीजल ‘पीया’। यह विजिलेंस के लिए एक अहम सुराग होगा। हालांकि यह प्रक्रिया प्रारंभिक जांच के बाद ही शुरू होगी।सूत्रों की मानें तो नगर निगम द्वारा दस्तावेजों में किस मुहल्ले का जाम छुड़ाने (नाले-मैनहोल का) में कितना खर्च दिखाया गया, जनता की सूचना पर उसका मिलान होगा और फिर जरूरत के मुताबिक मौके पर जाकर सत्यापन। संबंधित इलाके और वार्ड के निगमकर्मी और उनको निर्देश देने वाले हाकिमों से भी पूछताछ होगी। सब कुछ फुल-प्रूफ करने की तैयारी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विजिलेंस को जनता बताएगी किसने किया घोटाला