DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिरलाजी को राज्यसभा में श्रद्धांजलि

राज्यसभा ने हाल में दिवंगत हुए अपने पूर्व सदस्यों हरिकिशन सिंह सुरजीत, कृष्ण कुमार बिरला चिमनभाई हरिभाई शुक्ला, एनआर दसारी, तिलाई विल्लान, जे. चितरंजन, खान गुफरान जैदी आदि को श्रंद्धाजलि अर्पित की। इसके अलावा दिल्ली, बेंगलूर, अहमदाबाद, जयपुर आदि स्थानों में बम विस्फोटों में मार गए 157 लोगों, नैना देवी और चामुंडा देवी मंदिरों में मची भगदड़ में मार गए 28श्रद्धालुओं तथा बिहार में आई बाढ़ से मर लोगों को भी श्रंद्धाजलि दी गई। फील्ड मार्शल सैम मानेकशां के निधन पर भी शोक प्रकट किया गया। सत्र के पहले दिन सभापति हामिद मोहम्मद अंसारी ने कहा कि श्री बिरला के निधन से देश ने एक प्रमुख उद्योगपति तथा सम्मानित सांसद खो दिया। बिरला का निधन 30 अगस्त 2008 को हुआ था। अंसारी ने कहा कि उन्होंने साहित्य, साइंस अनुसंधान, फिलोसॉफी, आर्ट एवं कल्चर तथा खेल क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य को प्रोत्साहित करने के लिए के के बिरला फाउंडेशन की भी स्थापना की। वे 1से 2002 के बीच तीन बार राजस्थान से सदन के सदस्य रहे। अपने संदेश में अंसारी ने कहा कि पांडिचेरी विवि ने 1में उन्हें डी. लिट् की उपाधि दी। वे बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। वे बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टैक्नोलॉजी एंड साइंस पिलानी के चैयरमैन भी थे। वे इंडियन शुगर मिल एसोसिएशन के चैयरमैन भी रह चुके थे। सेंट्रल बोर्ड ऑफ स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में भी वे निदेशक रहे। वे बिरला एजुकेशन फाउंडेशन के ट्रस्टी और हिन्दुस्तान टाइम्स और के. के. बिरला समूह के चैयरमैन भी रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिरलाजी को राज्यसभा में श्रद्धांजलि