अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेट एयरवेज केचच बर्खास्त कचचर्मचारी कचचाम पर लौटे

देश में निजी क्षेत्र की प्रमुख विमानन कंपनी जेट एयरवेज के सभी बर्खास्त कर्मचारी शुक्रवार को काम पर वापस लौट आए। कंपनी के अध्यक्ष नरेश गोयल ने गुरुवार की देर रात अचानक बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में अपने सभी कर्मचारियों को वापस लेने का ऐलान किया था। शुक्रवार को करीब 200 हटाये गये कर्मी मुंबई के एक पंच सितारा होटल में गोयल से मिले। गोयल ने इनसे व्यक्ितगत तौर पर माफी मांगी और कंपनी की बेहतरी के लिए मिलकर काम करने का वादा किया। गोयल ने कहा-ाो कुछ भी हुआ उसके लिए मैं आपलोगों से माफी मांगता हूं। आप मेर बच्चे के समान हैं और मैं आपलोगों को किसी भी स्थिति में छोड़ नहीं सकता। गोयल ने कहा-हमलोग मिलकर जेट को बड़ी कंपनी बनाएंगे। कंपनी ने मंगलवार को अपने करीब 800 कर्मचारियों को बाहर कर दिया था। इसके अलावा कंपनी की 1100 और कर्मचारियों को निकालने की योजना थी। जेट एयरवेज के इस फैसले से काफी बवाल मचा था और इसको लेकर चौतरफा तीखी प्रतिक्रिया हो रही थी।ड्ढr इस बीच उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल ने भरोसा दिया कि सरकार घरेलू विमान सेवा में छाई वित्तीय संकट को दूर करने के लिए आवश्यक मदद पहुंचाएगी। मंदी का कारण ईंधन की कीमतों में भारी वृद्धि है। पटेल ने कहा कि वह राज्य सरकार को जेट ईंधन पर लगाए करों को कम करने एवं तेल कंपनी को भी सहायता करने को कहेंगे। गोयल कर्मचारियों को वापस लेने की घोषणा करते हुए कहा था कि वह यह फैसला किसी के दबाव में नहीं ले रहे हैं और न ही उन पर कोई राजनीतिक दबाव है। कांग्रेस ने बर्खास्त कर्मचारियों को वापस लेने के जेट एयरवेज के फैसले का स्वागत किया है। कांग्रेस के प्रवक्ता शकील अहमद ने शुक्रवार को कहा कि जेट के इस फैसले से उड्डयन उद्योग में विश्वास का वातावरण बनेगा तथा युवाओं और छात्रों को भी लाभ होगा। वहीं भाजपा ने सरकार पर नागरिक उड्डयन उद्योग के खस्ता हाल के लिए घड़ियाली आंसू बहाने का आरोप लगाते हुए कहा कि दरअसल राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार ने देश को जो सस्ती एयरलाइनों को तोहफा दिया था उसे जानबूझकर खत्म करने का काम कर रही है। भाजपा प्रवक्ता और राजग सरकार में नागरिक उड्डयन मंत्री रहे राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि संप्रग सरकार के शासन में सस्ते किराए वाली एयरलरइनों का बड़ी एयरलरइनों के साथ विलय होने दिया गया। गुरुवार को गोयल ने उनकी बहाली की घोषणा करते हुए कहा, ‘ कंपनी के सार कर्मचारी मेर बच्चे की तरह हैं, मैं उनकी आंखों में आंसू नहीं देख सकता। परिवार के मुखिया के नाते यह मेरा व्यक्ितगत फैसला है।’ खचाखच भर एक प्रेस कांफ्रेंस में गोयल ने कहा कि वे रात भर सो नहीं पाए और विशेषकर उनकी पत्नी नीता गोयल ने उन्हें कर्मचारियों को वापस लेने का अनुरोध किया। निकाले गए कर्मियों व उनके परिानों को हुई मानसिक पीड़ा के लिए उन्होंने माफी मांगी। उन्होंने कहा कि उन्हें भगवान और अपनी स्व. मां पर भरोसा है। मैनेजमेंट के फैसले पर टिप्पणी करने से इंकार करते हुए उन्होंने कहा अभी कंपनी के अर्थशास्त्र पर उनका ध्यान नहीं है। कंपनी की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है लेकिन ये कर्मचारी ही इसके अर्थशास्त्र को भी ठीक करंगे ताकि कंपनी चलती रहे और बंद होने की नौबत नहीं आए। इन कर्मचारियों को वेतन में 15 से 20 प्रतिशत की कटौती करानी पड़ेगी। मनसे प्रमुख राज ठाकर की धमकियों के बार में पूछा गया तो गोयल ने कहा कि मैंने इस बार में किसी से कोई बात नहीं की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जेट एयरवेज केचच बर्खास्त कचचर्मचारी कचचाम पर लौटे