धरती से खराबी ठीक कर सकते हैं वैज्ञानिक - धरती से खराबी ठीक कर सकते हैं वैज्ञानिक DA Image
16 दिसंबर, 2019|2:34|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धरती से खराबी ठीक कर सकते हैं वैज्ञानिक

श्रीहरिकोटा से लांच होने के बाद चंद्रयान साढ़े पांच दिन का सफर तय कर चंद्रमा की कक्षा में पहुंचेगा। इस दौरान यदि उसमें कोई खराबी आ जाए या यह राह भटक जाए तो क्या मिशन फेल हो जाएगा ? जी नहीं, इसरो ने चंद्रयान में ऐसे इंतजाम किए हैं कि यह राह से जरा भी भटका तो बेंगलूर के करीब बने डीप स्पेस नेटवर्क स्टेशन में बैठे वैज्ञानिक इसकी दिशा चेंज कर देंगे। ऐसा इसमें लगे अत्याधुनिक कम्युनिकेशन उपकरणों, कंट्रोलर और सेंसरों के जरिये संभव होगा। बेंगलूर के करीब बने डीप स्पेस नेटवर्क स्टेशन पर वैज्ञानिकों की एक बड़ी टीम चंद्रयान के पल-पल के सफर पर नजर रखेगी। चंद्रमा तक का 3 लाख 60 हजार किलोमीटर का इसका पूरा सफर वैज्ञानिकों की नजर में होगा। यदि चंद्रयान में कोई प्राब्लम होती है तो इसमें लगे किस्म-किस्म के सेंसरों से इसकी खबर तुरंत वैज्ञानिकों को लग जाएगी। तब वैज्ञानिक साफ्टेवयर सेंसर के चरिये चंद्रयान में लगे कंट्रोलर से संपर्क साधेंगे और उसे ठीक करंगे। वैज्ञानिकों के अनुसार दो-तीन तरह की समस्याएं आ सकती हैं। एक-यह चंद्रकक्षा में पहुंचने से पहले राह भटक सकता है। ऐसा हुआ तो लेकिन इसे सही दिशा में मोड़ दिया जाएगा। यदि इसका कोई उपकरण फेल होता है तो यहीं से उस उपकरण को ऑनलाइन बैकअप दिया जा सकता है। दरअसल, सार उपकरण विशेष सेंसरों या साफ्टवेयर से संचालित हैं जिन्हें बैकअप देकर ठीक किया जा सकता है। चंद्र कक्षा में जिस स्थान पर इसे स्थापित किया जाना है, यदि चंद्रयान उससे आगे बढ़ जाता है तो थ्रस्टर फायरिंग करके इसे निर्धारित स्थान पर वापस लाया जा सकता है। वैज्ञानिकों के अनुसार चंद्रयान में कई ऐसे इंस्ट्रूमेंट शामिल हैं जो यान में छोटी-मोटी समस्याएं पैदा होने पर नियंत्रण केंद्र से प्राप्त निर्देशों पर उन्हें रिपेयर कर सकते हैं। इस बीच श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के एसोसिएट डायरक्टर एमवाईएस प्रसाद ने बताया कि चंद्रयान को पीएसएलवी सी-11 में फिट करने के बाद लांच पैड पर पहुंचा दिया गया है। सोमवार से इसके प्रक्षेपण की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी। इस दौरान स्पेसक्राफ्ट में 42 टन प्रोपलेंट ईधन भरा जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी तैयारियां सही चल रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: धरती से खराबी ठीक कर सकते हैं वैज्ञानिक