अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खिताबी मुकाबले में हारे भूपति-नोल्स

चौथी वरीयता प्राप्त भारत के महेश भूपति और बहामास के मार्क नोल्स आखिरकार अपने से कम वरीयता वाली जोड़ी के सामने टिक नहीं सके। मैड्रिड मास्टर्स टेनिस के फाइनल में उन्हें रविवार को सातवीं वरीयताप्राप्त पोलैंड के मार्सिन मटकोव्स्की और मैरियूज फर्स्टनबर्ग की जोड़ी ने आसानी से 6-4, 6-2 से हरा कर खिताब पर कब्जा कर लिया। उधर सिंगल्स फाइनल में चौथे वरीयता प्राप्त ब्रिटेन के एंडी मर ने खिताबी मुकाबले में फ्रांस के सिमोन जाइल्स को थोड़े से संघर्ष के बाद 6-4, 7-6 (8-6) से हरा दिया। ये जीत उन्होंने करीब डेढ़ घंटे के मुकाबले के बाद हासिल की। सीजन के आखिरी टूर्नामेंट शंघाई ओपन के लिए पहले ही क्वालीफाई कर चुके मर का ये सत्र का चौथा खिताब है। दो महीने पहले उन्होंने सिनसिनाटी मास्टर्स जीता था। इसके साथ ही वे ब्रिटेन के पहले खिलाड़ी हैं जिन्होंने एक ही सत्र में चार एटीपी खिताब जीते हैं। इससे पहले भूपति और नोल्स ने सेमीफाइनल में शनिवार को एक घंटा 13 मिनट चले मैच में पांचवीं वरीयताप्राप्त स्वीडन के योनस यार्कमैन और जिम्बाब्वे के केविन यूलिएट को 6-2, 6-4 से शिकस्त दी। उन्होंने 10 में से चार ब्रेक प्वाइंट का उपयोग करते हुए जीत हासिल की। भारत और बहामास के खिलाड़ी की जोड़ी को मेम्फिस और दुबई में कामयाबी के बाद अब इस साल के तीसरे खिताब का इंतजार था पर खिताब मुकाबले में उसकी चुनौती धराशायी हो गई। 34 साल के भूपति 2003 में मैक्स मिर्नी के साथ मिलकर इस टूर्नामेंट का खिताब जीत चुके हैं। सैंतीस साल के नोल्स ने 2002, 2004 और 2005 में डेनियल नेस्टर के जोड़ीदार के रूप में यह खिताब जीता था। खिताब जीतने वाली पोलैंड की जोड़ी ने सेमीफाइनल में तीन मैच प्वाइंट बचाते हुए आठवीं वरीयताप्राप्त दक्षिण अफ्रीका के जेफ कोएट्जी और वेस्ली मूडी को 6-7, 7-6, 12-10 से पराजित किया। मटकोव्स्की और फर्स्टनबर्ग लगातार दूसरी बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचे हैं। पिछले साल उन्हें खिताबी मुकाबले में बॉब और माइक ब्रायन की अमेरिकी जोड़ी से शिकस्त झेलनी पड़ी थी। पर इस बार उन्होंने जीत हासिल कर ली। यहां सेमीफाइनल में हार से शीर्ष वरीयता की कुर्सी हासिल करन क लिए प्रयासरत फडरर क साथ-साथ नदाल को भी बड़ा झटका लगा है। नदाल इस सत्र मं अपना नौवां खिताब जीतन स चूक गए हैं। वर्ष 2003 क बाद यह पहला मौका है जब फडरर शीर्ष वरीयता क बगैर सत्र का समापन करंग। नदाल को हालांकि इस बात की खुशी होगी कि समीफाइनल मं हारन क बावजूद व 2008 क अंत तक शीर्ष वरीयता की कुर्सी पर बन रहंग। नदाल साल के अंत में चोटी पर रहने वाले स्पेन के पहले खिलाड़ी होंगे। वह अगस्त में स्विट्जरलैंड के फेडरर को पीछे छोड़ विश्व के नंबर एक खिलाड़ी बने थे। नदाल 1में जान मैकेनरो के बाद चोटी पर रहने वाले बाएं हाथ के पहले खिलाड़ी हैं। उन्होंने कहा, साल के अंत में चोटी पर रहना वाकई खास अनुभव है। फेडरर 2003 के बाद पहली बार साल के अंत में विश्व टेनिस के शिखर पर नहीं होंगे। नदाल ने इस साल दो ग्रैंड स्लैम खिताब और ओलंपिक स्वर्ण समेत आठ खिताब जीते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: खिताबी मुकाबले में हारे भूपति-नोल्स