अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वैदिक गणित ने सिखाया सूत्र समझें, हल निकालें

सूत्र पकड़िए और झटपट सवालों को हल करिए। यह सब वैदिक गणित की खूबियों से संभव है। बच्चों को भी इनकी खूबियाँ भा रही हैं। कक्षा-दो से छह में पढ़ रहे छोटे बच्चों ने रविवार को इंदिरानगर में मैािकल मैथड्स को समझने में खूब मन लगाया। कई अभिभावकों ने तो वैदिक गणित में अपने बच्चों की रुचि को देख दाखिला भी करा दिया। दाखिला लेने वालों में दिल्ली पब्लिक स्कूल,ोयपुरिया, लोरटो समेत कई नामी स्कूलों के बच्चे शामिल हैं।ड्ढr भूतनाथ मंदिर के पास बने सेंटर में अनूप भट्ट बच्चों को वैदिक गणित की खूबियों बता रहे हैं। उन्होंने बताया कि वैदिक गणित केोन्मदाता स्वामी भारती कृष्ण तीर्थोी महाराा ने ऐसे सूत्र बनाए हैंोिनकेोरिए बच्चों को बगैर पहाड़ा पढ़े फटाफट गणित के सवाल हल करने की कला आोाती है। वे संस्कृत में लिखे सूत्र में छिपे अर्थ को गुनते हैं और सवाल हल कर देते हैं। उदाहरण के तौर पर 1गुणे नौ 171 होता है। अक्सर बच्चे पूरा पहाड़ा पढ़ने के बाद ही लिख पाते हैं। वैदिक गणित में सिर्फ नौ तक का पहाड़ा ही याद करने कीोरूरत है। 1गुणे नौ के लिए वैदिक गणित का सूत्र बताता है कि 1अंक 10 औरो योग है। इसलिए 1ो दो भागों में बाँटिए। पहले भाग में 10 गुणे बराबर 0, दूसर भाग में गुणे बराबर 81। दोनों कोोोड़ दीािए 171 आएगा।ड्ढr श्री भट्ट ने एक और उदाहरण केोरिए वैदिक गणित की खूबी बताई। 88 का वर्ग करने में बच्चों को गुणा करने में काफी समय लगोाता है, वैदिक गणित में सिर्फ एक मिनट। इसकाएक सृूत्र बताता है किोोोितना दूर है उसे उतना और दूर कर दें तथा अंतर का वर्ग निकालकर बगल में रख दें। इस सूत्र की मदद से 88 की संख्या 100 के करीब है। घटाने पर संख्या 12 आई। अब 12 का वर्ग करने पर 144 हो गया। 88 से 12 का अंतर और बढ़ा दें यानि 88 से 12 घटाने पर 76 आया। इस तरह 76 के बगल में 144 रखें। करीब की दोनों संख्याएँ 6 और एक कोोोड़ने सेोो संख्या आएगी वही 88 का वर्ग होगा, यह है 7744।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वैदिक गणित ने सिखाया सूत्र समझें, हल निकालें