अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीलंका ने युद्ध विराम की खबरों का खंडन किया

श्रीलंका ने सोमवार को लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) के खिलाफ युद्ध विराम की खबरों का खंडन करते हुए कहा कि भारी तोपखाने, हवाई हथियारों और लड़ाकू विमानों के उपयोग को रोकने के सरकार के निर्णय को मीडिया ने गलत तरीके से पेश किया। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि सेना लिट्टे के कब्जे में अभी भी बंधक 15,000-20,000 लोगों को बचाने के लिए मानवीय अभियान जारी रखेगी। एक भी नागरिक की मौत न होने देने की नीति का पालन करने के लिए भारी हथियारों का प्रयोग रोका गया है। बयान के अनुसार मीडिया के कुछ हिस्सों ने इसका गलत मतलब निकालते हुए इसे युद्ध विराम समझा है। मंत्रालय के एक अधिकारी के हवाले से कहा गया कि वास्तविक सरकारी बयान में बदलाव करके मीडिया की इन खराब और अनैतिक रिपोटरे का उद्देश्य आतंकवादी संगठन के राजनीतिक रूप से अज्ञानी समर्थकों को उत्साहित करना है। बयान के अनुसार सरकार का निर्णय वालायारमदाम के दक्षिण और वेलामुलिवईक्कल के बीच 10 किलोमीटर के इलाके में दोनों तरफ से जानमाल का नुकसान रोकने के लिए है। उन्होंने जोर दिया कि सरकार का निर्णय किसी अंतरराष्ट्रीय दबाव का परिणाम नहीं है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: श्रीलंका ने युद्ध विराम की खबरों का खंडन किया