DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज एनोस मामले की होगी सुनवाई

पीकर बनने के बाद आलमगीर आलम पहली बार दसवीं अनुसूची से जुड़े मामलों की सुनवाई सोमवार को शुरू करंगे। स्पीकर के कोर्ट में 11 विधायकों से जुड़े दल-बदल के मामले लंबित हैं। झारखंड विधानसभा सचिवालय की ओर से जारी कार्यक्रम के मुताबिक सोमवार को मंत्री एनोस एक्का के मामले की सुनवाई होगी। इसके पांच दिन के बाद 25 अक्तूबर को मंत्री स्टीफन मरांडी के मामले की सुनवाई होगी। 10 नवंबर को मंत्री कमलेश कुमार सिंह के मामले की सुनवाई होनी है। इन तीनों विधायकों का मामला आलमगीर आलम के स्पीकर बनने से पहले से ही लंबित है। पूर्व स्पीकर इंदर सिंह नामधारी ने तीनों मामलों की सुनवाई 13 सितंबर 2006 को ही पूरी कर ली थी। लेकिन कोई निर्णय देने के पहले ही उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। स्पीकर मामले की खुली सुनवाई करंगे। इसके लिए विधानसभा की विपक्षी लॉबी (दक्षिण लॉबी) में इजलास बनाया गया है। मंत्री एनोस एक्का के खिलाफ झारखंड पार्टी के अध्यक्ष एनइ होरो ने शिकायतवाद दायर किया है। आरोप के मुताबिक एनोस एक्का ने पार्टी ह्विप का उल्लंघन किया था। पहले यह मामला झारखंड हाइकोर्ट में गया था। बाद में कोर्ट ने इसे स्पीकर के कानूनी अधिकार क्षेत्र का मामला बताते हुए तदनुसार निर्देशित किया। इनके अलावा विधायक समीर उरांव मामले के इंटरवेनर हैं। 25 अक्तूबर को मंत्री स्टीफन मरांडी मामले की सुनवाई होनी है। इनके खिलाफ विधायक चंद्रेश उरांव और पुतकर हेंब्रम ने स्पीकर के यहां शिकायतवाद दायर की थी। इनका आरोप है कि निर्दलीय सदस्य निर्वाचित होने के बाद स्टीफन मरांडी झारखंड विकास मोरचा नामक राजनीतिक दल की गतिविधियों में भी सक्रियता से हिस्सा लेते रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आज एनोस मामले की होगी सुनवाई