DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंद्रह सौ आईटीआई खोलने की योजना मंजूर

रोगार बाजार की बढ़ती मांग के मद्देनजर श्रम मंत्रालय को देश में पंद्रह सौ आईटीआई स्थापित करने के साथ पांच सौ कौशल विकास केंद्र खोले जाने की मंजूरी मिल गई है। आईटीआईऔर कौशल विकास केंद्र उन जिलों में खोले जायेंगे जहां अब तक इसकी सुविधा नहीं थी। पहले से संचालित आईटीआई के चार सौ केंद्रों को रोगार बाजार की जरूरतों के अनुसार उन्नत किये जाने का प्रस्ताव है। श्रम मंत्रालय के प्रस्तावों के अनुसार आईटीआई के 1,3ेंद्रों को पब्लिक प्रायवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) कार्यक्रम के तहत उन्नत किया जायेगा। इन केंद्रों में दी जाने वाली ट्रेनिंग के लिए राज्य सरकारं , औद्योगिक क्षेत्रों , सीआईआई , पीएचडी चेम्बर ऑफ कामर्स और इंडियन एसोसियेशन ऑफ इंडस्ट्री आदि के साथ विचार विमर्श का सिलसिला शुरु हो गया है। श्रम मंत्रालय के सूत्रों ने सोमवार को बताया कि इन केंद्रों को उन्नत बनाने के लिए केंद्र 2.5 करोड़ रुपये का अनुदान देगा। इन केंद्रों में औद्योगिक क्षेत्रों की जरूरतों के अनुसार पाठ्यक्रमों में बदलाव किया जायेगा। मंत्रालय का कहना है कि कौशल विकास केंद्रों और आईआईटी केंद्रों को रोगार बाजार की मांग के अनुरुप उन्नत किया जायेगा ताकि ट्रेनिंग लेने वाले युवा रोगार के क्षेत्र में टिक सकें। ऑकुपेशनल एण्ड ट्रेनिंग निदेशालय के महानिदेशक शारदा प्रसाद के अनुसार उन्नत किये जाने वाले औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्रों की स्थापना के लिए राज्यों को यह सुनिश्चत करना होगा कि इन केंद्रों की स्थापना और उनके उन्नयन कार्यक्रमों में कोई रुकाबट न आने पाए। निदेशालय के प्रमुख के अनुसार इस दिशा में अनेक राज्यों में औद्योगिक संगठनों के साथ विचार-विमर्श किया जा चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पंद्रह सौ आईटीआई खोलने की योजना मंजूर