DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अवर शिक्षा सेवा : 475 अफसरों की पुन: तैनाती की कवायद शुरू

अवर शिक्षा सेवा (प्राथमिक शाखा) के जिन 475 अधिकारियों का ट्रांसफर-पोस्टिंग रद्द हुआ था मानव संसाधन विकास विभाग ने पुन: उनकी तैनाती की कवायद शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कड़े रुख पर चार दिन पहले इन अधिकारियों को पुरानी जगहों-पदों पर जाने को कहा गया था। जानकारी के मुताबिक मंत्रिमंडल सचिवालय विभाग ने शिक्षा विभाग को दुबारा पत्र भेजकर जरूरी समझे जाने वाले तबादलों और पोस्टिंग के मामलों को निपटाने को कहा है।ड्ढr ड्ढr बताया जाता है कि शिक्षा विभाग पूरी प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा करने में जुटा है ताकि आम चुनाव के नोटिफिकेशन से पहले इस पर राज्यादेश लिया जा सके। चूंकि ये तबादले-पोस्टिंग ‘ऊपर’के निर्देश पर रद्द हुए थे लिहाजा पुन: अधिसूचना जारी करने से पहले इसे मुख्यमंत्री के पास भेजा जाना तय है। कैबिनेट ने जून के चार महीने बाद बड़ी तादाद में हुए इन तबादलों पर उंगली उठाई थी। विभाग ने अपने तर्क भी पेश किए जिसे तब नहीं सुना गया। जानकारी के मुताबिक अब मुख्यमंत्री की तरफ से हरी झंडी मिलने के साथ ही विभाग नए सिर से इन तबादलों की कसरत में जुट गया है। उसकी वरीयता में सबसे ऊपर पोस्टिंग का इंतजार कर रहे इस संवर्ग के 12 अधिकारी हैं। इसके बाद वैसे 137 अधिकारी हैं जिनको पद समपरिवर्तन के आधार पर नवसृजित प्रखण्डों में बीईईओ बनाया गया था।ड्ढr ड्ढr फिर उन 133 अधिकारियों के नामों पर विचार होगा जिन्हें निम्न शिक्षा सेवा से अवर शिक्षा सेवा में प्रोन्नति दी गयी थी। तब उन अधिकारियों की बारी आएगी जिनका उपाधीक्षक, प्राथमिक शिक्षक शिक्षा महाविद्यालय में व्याख्याता और बुनियादी विद्यालय में प्रधानाध्यापक आदि समकक्ष पदों पर स्थानांतरण और पदस्थापन किया गया था। तबादलों के बार में विभाग ने तय किया है कि इस बार कम से कम तीन पिछली पोस्टिंग को सामने रखकर ही कोई फैसला लिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अवर शिक्षा सेवा : 475 अफसरों की पुन: तैनाती की कवायद शुरू