DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षक दो और छात्र आठ

थान-प्राइमरी स्कूल डोंगाटोली मांडर। बेहतर व्यवस्था। बावजूद इसके मात्र आठ छात्र उपस्थित। इन छात्रों को पढ़ाने में लगे हैं दो शिक्षक। मंगलवार को निरीक्षण करने पहुंचे डीएसइ प्रदीप कुमार चौबे स्थिति देखकर भड़क गये। रिकॉर्ड देखा तो पता चला कि यहां 64 छात्र नामांकित हैं। छात्र संख्या कम रहने के कारण एक शिक्षक का अन्यत्र प्रतिनियोजन करने की बात कही।ड्ढr प्राथमिक स्कूल डुमरी मांडर में निरीक्षण के दौरान मिड डे मील में काफी गड़बड़ी मिली। ग्राम शिक्षा समिति का पुनर्गठन 25 अक्तूबर को करने का निर्देश दिया गया। मिड डे मील का रिकॉर्ड प्रभारी नहीं दिखा पाये। इससे संबंधित टीचर को शो कॉज जारी किया। इसके अलावा प्राइमरी स्कूल ईटा, मिडिल स्कूल बाजरा, सिलागाईं, रघुनाथपुर एवं मांडर में सब ठिक मिला।ड्ढr बजने लगा मोबाइल..ड्ढr डीएसइ के लगातार निरीक्षण से शिक्षकों में हड़कंप मचा हुआ है। जसे ही डीएसइ मांडर के पहले स्कूल से निरीक्षण कर निकले। इसके बाद से प्रखंड का शायद ही कोई ऐसा स्कूल होगा, जहां यह सूचना नहीं मिल गयी हो। डीएसइ के एक-एक मूवमेंट की जानकारी शिक्षकों को मिल रही थी। मोबाइल पर एक-दूसर को शिक्षक यह सूचना दे रहे थे। मोबाइल नहीं लगने पर एसएमएस का भी सहारा लिया जा रहा था। एसएमएस में लिखा था-डीएसइ मांडर में निरीक्षण कर रहे हैं। एलर्ट हो जाओ।ड्ढr मंत्री को धन्यवाद दियाड्ढr अल्पसंख्यक माध्यामिक शिक्षक संघ ने शिक्षा मंत्री बन्धु तिर्की और विभाग के सभी पदाधिकारियों को धन्यवाद दिया। संघ की महासचिव सिस्टर सोसन बाड़ा ने कहा कि वर्ष 2006 से पेंशन भुगतान की घोषणा हमार लिए खुशी की बात है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शिक्षक दो और छात्र आठ