DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक

एक पल के लिए। सिर्फ एक पल के लिए ऊपर ब्रह्मांड की तरफ देखिये। इसी असीम शून्य में चांद नाम का एक शावक उपग्रह है। अनंतकाल से पृथ्वी के सम्मोहन में बंधा सुंदर सलोना चांद। उसी की दहलीज छूने एक ऐसा चंद्रयान निकल रहा है जिसे भारतीय वैज्ञानिकों ने तैयार किया है। देसी तकनीक, देसी वाहन, देसी सेटेलाइट। क्रमश: साकार होते महास्वप्न का आरंभ। आज मशीन भेज रहे हैं, कल इंसान जाएगा। चंद्रयान-1 चंदा मामा के मिथक ही नहीं, तीसरी दुनिया के एक महान राष्ट्र की हीनभावनाएं भी तोड़ेगा। ग्लोब के सबसे विराट लोकतंत्र की अंतरिक्ष में एक और विनम्र उपलब्धि। मिसाइलमैन कलाम रोमांचित हैं। इसरो रोमांचित है। समूची भारतीय साइंस गौरवान्वित है। इस अनूठे रोमांच में आप भी शामिल हैं ना?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दो टूक