अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज को 5 नवम्बर तक न्यायिक हिरासत, जमानत

राज ठाकरे को कल्याण की अदालत ने बुधवार को सुनवाई करते हुए 5 नवम्बर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया था, लेकिन इसके कुछ देर बाद ही अदालत ने उन्हें 15000 के निजी मुचलके पर जमानत भी दे दी। उधर रेलवे ने भी राज के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी और अदालत से उन्हें इस मामले में भी 24 अक्टूबर तक के लिए अंतरिम राहत मिल गई है। इस बीच मनसे समर्थकों ने राज्यभर में हिंसा व आगजनी की। रेलवे की परीक्षा देने के लिए मुंबई गए उत्तर भारतीय छात्रों की पिटाई के मामले में गिरफ्तार मनसे प्रमुख राज ठाकरे को बुधवार को बड़े पुलिस बंदोबस्त के बीच कल्याण कोर्ट में पेश किया गया। उत्तर भारतीयों के विरुद्ध आग उगलते राज ठाकरे की गिरफ्तारी के बाद से ही मनसे कार्यकर्ताआें और राज समर्थकों ने राज्यभर में उपद्रव मचाना जारी रखा है। मनसे कार्यकर्ताआें के इस उपद्रव के दौरान अरबों रुपये की संपत्ति स्वाह हो चुकी है जबकि राज्य प्रशासन व पुलिस अब तक इन उपद्रवियों पर काबू पाने में असमर्थ नजर आ रहे हैं। उधर राज ठाकरे की मुश्किलें और भी बढ़ने लगी हैं। विक्रोली की अदालत ने राज के खिलाफ एक नोटिस जारी करते हुए पूछा है कि क्यों ना फरवरी में उत्तर भारतीयों के खिलाफ भाषण देने के मामले में उन्हें मिली जमानत को रद्द कर दिया जाए। चूंकि राज ने जमानत की शतरे का पालन नहीं किया है इसलिए अदालत ने शख्त कदम उठाते हुए उन्हें यह नोटिस जारी किया है। मंगलवार तड़के गिरफ्तार होने के बाद मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने महाराष्ट्र के ठाणे जिले के दोंबीविली कस्बे के मानपाडा थाने के लॉक-अप में रात गुजारी। उनकी गिरफ्तारी की खबर लगते ही मनसे कार्यकर्ताओं ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में जमकर उत्पात मचाया था। पुलिस ने मानपाडा में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हैं और वहां त्वरित कार्य बल और राज्य आरक्षी पुलिस बल के अतिरिक्त कर्मी तैनात किए गए हैं। मनसे कार्यकर्ताओं को और परेशानी पैदा करने से रोकने के लिए पुलिस ने थाना क्षेत्र में निषेधाज्ञा लागू कर दी है। राज समर्थकों द्वारा हिंसा और आगजनी को देखते हुए कल्याण शहर के अधिकांश हिस्सों में बुधवार को अनिश्चितकालीन कफ्यरू लगा दिया गया है। उधर उत्तर-भारतीयों के खिलाफ हिंसा उकसाने के आरोप में गिरफ्तार महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे)प्रमुख राज ठाकरे से मुलाकात की मांग को लेकर उनकी पत्नी पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ लेकर धरने पर बैठ गई हैं। पुलिस ने कफ्यरू का उंघन करके कल्याण अदालत की ओर बढ़ने का प्रयास करने वाले राज समर्थकों पर लाठी चार्ज भी किया। कानून और व्यवस्था बनाए रखने में स्थानीय प्रशासन की सहायता के लिए अधिकारियांे ने त्वरित कार्रवाई बल (आरएएफ) और राज्य र्जिव पुलिस (एसआरपी) की टुकड़ियों को कल्याण में तैनात किया है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राज को 5 नवम्बर तक न्यायिक हिरासत, जमानत