अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माकपा व सोमनाथ में फिर ठनी

लोकसभा स्पीकर सोमनाथ चटर्ाी और उनकी पूर्व पार्टी माकपा के बीच एक बार फिर से ऐसी ठन गई है कि पार्टी ने लोकसभा में उन पर बदले की भावना से काम करने का आरोप जड़ दिया। जुलाई में पार्टी लाईन के खिलाफ काम करने के आरोप में सोमनाथ को पार्टी से निष्कासित करने के बाद माकपा ने सोमनाथ पर दूसरी बार हमला बोला है। माकपा का कहना है कि एक तो उन्हें उड़ीसा, कर्नाटक समेत देश के कई भागों में अल्पसंख्यकों पर हमले, केरल व बंगाल को राशन के गल्ले में कटौती जसे कई अहम मामले उठाने का मौका नहीं दिया गया, दूसरी ओर जब मौका मिला भी तो बात अनसुनी करते हुए भाजपा को ज्यादा तराीह दी जाती रही। माकपा का आरोप है कि संसद में अल्पसंख्यकों के खिलाफ हमलों के मामले नहीं उठें, इस पर कांग्रेस व भाजपा के बीच मिली भगत है, इसलिए जब हम ऐसे मामले उठाते हैं तो कांग्रेस व भाजपा एक जो जाते हैं। बुधवार को तो माकपा ज्यादा ही खफा हो गई क्योंकि केरल को चावल के कोटे में कटौती के विरोध में पर्चा लहराने के आरोप में सोमनाथ ने माकपा के सांसद अब्दुल्ला कुट्टि को दिन भर के लिए सदन से बर्खास्त करने का आदेश दे दिया। यह वाकया सुबह 11 बजे के कुछ देर बाद का है जब सोमनाथ के आसन के आगे वाम सांसद घेराबंदी कर रहे थे। लोकसभा में पार्टी के उप नेता मोहम्मद सलीम ने तो यहां तक कह दिया कि स्पीकर पद पर रहते हुए उन्हें जो अधिकार मिले हुए हैं, उनका वे अतिक्रमण कर रहे हैं और माकपा के खिलाफ बदले की भावना से काम कर रहे हैं। माकपा ने कहा कि यह पहली बार नहीं हो रहा है कि सांसद सदन में हंगामा करते हैं या सदन में सरकार का ध्यान आकर्षित करने के लिए पर्चे, पोस्टर और अखबार लहराते हैं। सलीम व पार्टी नेता वासुदेव आचार्य ने दोनों को इस बात की सख्त शिकायत थी कि बुधवार को वाम दलों ने जब केरल, बंगाल को राशन कोटे की बहाली का मामला उठाने के लिए प्रश्नकाल खत्म कर चर्चा कराने की मांग की तो अध्यक्ष ने उनकी मांग को पूरी तरह अनसुना कर दिया। माकपा का कहना था कि ऐसा इस समें बार-बार हो रहा है। वासुदेव आचार्य का कहना था कि हमसे ज्यादा तराीह भाजपा को दीो रही है। उन्होंने पिछले चार कार्य दिवसों का जिक्र किया कि इस तरह उनकी जगह भाजपा को बोलने का मौका दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: माकपा व सोमनाथ में फिर ठनी