अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शांति के लिए अपनी कुर्बानी की पेशकश की नीतीश ने

महाराष्ट्र में हुई मारपीट से नाराज छात्रों द्वारा बिहार में तोड़फोड़ पर आहत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शांति कायम करने के लिए अपनी कुर्बानी की पेशकश की है। आक्रोशित युवाओं को समझाने और महाराष्ट्र की सरकार पर दबाव बनाने के लिए गुरुवार को सर्वदलीय बैठक होगी। मुख्यमंत्री ने अपील की कि अगर मेरी गर्दन लेकर इस समस्या का समाधान हो जाता है तो मैं इसके लिए तैयार हूं, पर कृपा करके बिहार में रलवे और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाना बन्द कीजिए। बुधवार को विभिन्न जिलों में हिंसक घटनाओं और पुलिस कार्रवाई के संबंध में गृह मंत्री शिवराज पाटिल को जानकारी दी गयी है। जल्द ही प्रधानमंत्री को भी पत्र लिखा जायेगा। मुख्यमंत्री ने मनसे जैसे संगठनों की राजनीतिक गतिविधियों पर रोक लगाने की आवश्यकता जतायी।ड्ढr ड्ढr तमाम अभिभावकों से भी अपने बच्चों को उनका और राज्य का नफा-नुकसान समझाने की अपील करते हुए श्री कुमार ने कहा कि ‘प्रदेश को बचाइये। आग मत लगाइये। एक बार आग लग गयी तो धू-धू कर जल गया तो समझते हैं क्या होगा?’ बिहार के साथ पूरा देश महाराष्ट्र की घटनाओं के खिलाफ है। हम केन्द्र और महाराष्ट्र सरकार पर लगातार दबाव बना रहे हैं। जब सार लोग अपने-अपने स्तर से संविधानसम्मत कार्रवाई कर रहे हैं तब बिहार में क्रोध के ऐसे प्रदर्शन का औचित्य समझ से पर है। इससे विघटनकारी तत्वों का काम आसान हो रहा है लेकिन बिहार को सिर्फ बदनामी ही मिलेगी। हमारा स्टैंड भी कमजोर होगा। छात्रों को सोचना होगा कि सड़क, बाजार, रल ट्रैक पर तोड़-फोड॥कर वह किसका नुकसान कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के गृह सचिव और डीजीपी महाराष्ट्र में लापता छात्रों के संबंध में खोजखबर ले रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शांति के लिए अपनी कुर्बानी की पेशकश की नीतीश ने