DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चंद्रप्रकाश के क्षेत्र का 40 करोड़ का टेंडर फिर रोका

पेयजल एवं स्वच्छता विभाग में टेंडर रोकने, जारी करने और फिर स्थगित करने का खेल जारी है। रामगढ़ पेयजलापूर्ति योजना के गठन के लिए निकाले गये टेंडर पर यह कार्रवाई एक माह में तीन बार की गयी है। विभाग के अभियंता प्रमुख सज्जाद हुसैन द्वारा जारी किये गये आदेश में कहा गया है कि रामगढ़ के लिए सितंबर एवं अक्तूबर माह में आमंत्रित ग्रामीण पाइप जलापूर्ति योजना से संबंधित निविदाओं को तत्काल प्रभाव से स्थगित किया जाता है।इससे पहले विभाग की नयी मंत्री अपर्णा सेनगुप्ता ने गत सितंबर माह में योजनाओं की समीक्षा के क्रम में सिर्फ रामगढ़ के लिए 40 करोड़ की योजना पाकर सभी टेंडरों की समीक्षा के लिए स्थगित करने का आदेश दिया था। इस पर विभागीय अभियंता प्रमुख ने क्षेत्र से मंतव्य जानने और नीतिगत मामले पर निर्णय लेने का अधिकार सचिव का होने का हवाला देते हुए अगले ही दिन अपना आदेश वापस लेते हुए टेंडर बहाल रखने का आदेश जारी किया। अब मंत्री अपर्णा सेन ने इसे प्रतिष्ठा का प्रश्न बना लिया और रामगढ़ के टेंडर को स्थगित रखने का आदेश दिया। सूचना है कि मुख्य सचिव एके बसु ने रामगढ़ की योजना से संबद्ध टेंडर को बहाल रखने का मौखिक निर्देश वहां के अधीक्षण अभियंता जयनारायण राम को दिया। इसकी सूचना राम ने विभाग को देते हुए दिशा-निर्देश मांगा। राम की इस सूचना पर विभाग ने टेंडर को स्थगित कर दिया।ड्ढr अकारण स्थगित करना अनुचित : मुख्य सचिवड्ढr रांची। मुख्य सचिव एके बसु ने इस मामले पर कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। यदि ऐसा हुआ है, तो उचित नहीं है। कोई भी टेंडर तकनीकी समिति द्वारा पारित होती है। जिस क्षेत्र में सुविधा लिए कोई योजना दी जाती है, उस पर क्षेत्र की जनता की उम्मीद लग जाती है। बिना कारण दर्शाये टेंडर स्थगित करने से मामला न्यायालय में जा सकता है। इससे बचना चाहिए। यदि यह मामला उनके समक्ष लाया जाता है, तो वे मुख्यमंत्री के समक्ष इसे रख सकते हैं।ड्ढr अपर्णा सेन को क्या कष्ट है समक्ष में नहीं आता : चौधरीड्ढr रांची। रामगढ़ क्षेत्र के विधायक सह पूर्व पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने इस कार्रवाई पर कहा है कि रामगढ़ नया जिला है। यहां की योजना सीओबीटी से पास है। फिर मंत्री अपर्णा सेन को क्या कष्ट है, समक्ष में नहीं आ रहा। वैसे रामगढ़ की जनता समझ रही है कि उनको बदनाम करने के लिए टेंडर स्थगित करने की कार्रवाई की गयी है। रामगढ़ में पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के लिए खिलाफ 25 अक्तूबर को जनांदोलन शुरू होगा। जोरदार प्रदर्शन होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चंद्रप्रकाश के क्षेत्र का 40 करोड़ का टेंडर फिर रोका