अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जाम में फंसे दूल्हे राजा

अक्षय तृतीया पर शहर में शादियों की धूम रही। श्रेष्ठ विवाह लग्न होने के कारण सोमवार को शहर में करीब तीन सौ शादियां होने की खबर है। गली-मोहल्ले हर तरफ से शहनाई की गूंज आ रही थीं। बैंड-बाजे के साथ नाचते-गाते बराती व आगे-आगे घोड़ी या फूलों से सजीं चमचमाती गाड़ियों में बैठा दूल्हा। आसमान आतिशबाजी से झिलमिलाता रहा। वहीं इतनी सारी शादियां एक साथ होने से शहर में ट्रैफिक जाम की स्थिति बन गयी थी। एनएच पर भी जाम लगा रहा। सबलपुर से जीरो माइल तक लगातार तीन घंटे तक जाम लगा रहा। गाड़ियां टस से मस नहीं हो रही थीं। जाम में करीब दर्जनभर बरात पार्टी फंसी हुई थी। दूल्हे राजा पसीने -पसीने हो रहे थे। बारातियों की हालत भी खस्ता रही। दूल्हे राजा को यह अंदेशा लगा रहा कि शुभ लग्न पर मंडप पर पहुंच सकेंगे कि नहीं। कई जगहों पर बाराती व दूल्हे जाम के चलते समय पर नहीं पहुंच सके।ड्ढr ड्ढr राजधानी समेत पूर सूबे में अक्षय तृतीया के मौके पर ढेर सारी शादियां हुईं। शहर में बाहर से आने वाले बारातों की तादाद भी कम नहीं थी। इस वजह से राजधानी की ओर आने कई सड़कों पर शाम सात बजे के बाद से जाम लगना शुरू हो गया। एनएच पर सबलपुर से जीरो माइल तक रात 8 बजे से रात 11 बजे तक लगातार जाम की स्थिति रही। एक दर्जन से अधिक बारात पार्टी गाड़ियों के काफिले के साथ जाम खत्म होने का इंतजार करते रहे। जाम में करीब सौ से अधिक गाड़ियां फंसी हुई थीं। रात 11 बजे के बाद छोटी गाड़ियां धीर-धीर जाम से निकलने लगीं। हालांकि सोमवार को जाम में बड़े वाहनों की तादाद कम रही बल्कि छोटी गाड़ियां ही अधिक रही। इधर शहर में भी मेन रोडों के साथ गली-मोहल्लों में भी बाजे-गाजे के साथ बारात निकलने के कारण कुछ-कुछ अंतराल पर जाम लगता रहा। इससे आम शहरी को ट्रैफिक जाम ने हलकान कर दिया।ड्ढr ड्ढr दूसरी ओर होटलों, धर्मशालाओं, निजी व सरकारी सामुदायिक भवनों में शादी के चलते तिल रखने की जगह नहीं थी। पं. बिपेद्र माधव के मुताबिक अक्षय तृतीया के दिन से ही त्रता युग की शुरुआत हुई थी और आज के दिन विवाह का श्रेष्ठ लग्न है। इस वजह से शहर में करीब तीन सौ शादियां हुई हैं। पंडितों की बुकिंग भी जोरदार रही। उनके भाव भी चढ़े हुए थे। 1500 से 5100 रुपए तक दक्षिणा वसूले।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जाम में फंसे दूल्हे राजा