DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस टिकट के लिए गुटबाजी

ांग्रेस के टिकट वितरण में कोटा सिस्टम जसी कोई चीज नहीं रहने के कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दावे की धज्जियां छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिए जारी उम्मीदवारों की पहली सूची में ही उड़ गई दिखती हैं। पहले चरण में 14 नवंबर को होने वाले चुनाव के लिए निर्धारित 3में से 35 सीटों के लिए जारी की गई कांग्रेस के उम्मीदवारों की सूची में पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी और मोती लाल वोरा के समर्थकों को प्राथमिकता दी गई है। दोनों ही राज्य में कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री पद की होड़ में बताए जाते हैं। कांग्रेस के भरोसेमंद सूत्रों के अनुसार पहली सूची में श्री जोगी अपने एक दर्जन तथा श्री वोरा दस करीबी लोगों को उम्मीदवार घोषित करवाने में सफल रहे। सूची में श्री वोरा के पुत्र अरुण वोरा का नाम भी है जो पिछला चुनाव हार गए थे। उन्हें दुर्ग शहर से एक बार फिर उम्मीदवार बनाया गया है। अटकलें श्री जोगी के भी मरवाही से चुनाव लड़ने की हैं। उनकी निवर्तमान विधायक पत्नी रणु भी कोटा से दावेदार हैं। कांग्रेस उम्मीदवारों की सूची में नक्सलवादियों के खिलाफ सलवा जुडूम के लिए मशहूर कांग्रेस विधायक दल के नेता महेंद्र कर्मा और पार्टी के लोकसभा सदस्य देव व्रत सिंह के चार-चार करीबी लोगों, अजरुन सिंह के एक करीबी को भी टिकट दिया गया है। आदिवासी नेता अरविंद नेताम की पुत्री प्रीति नेताम को कांकेर से उम्मीदवार बनाया गया है जबकि डोंगरगांव से गीता देवी सिंह के रूप में एक उम्मीदवार कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती गांधी की निजी पसंद पर भी चुना गया है। श्रीमती सिंह के स्वर्गीय पति स्व. राजीव गांधी के करीबी सांसद थे। गुटबाज नेताओं को संतुष्ट करने के लिए ही नगर निकाय चुनावों में भिलाई से महापौर का निर्दलीय चुनाव लड़ कर कांग्रेस प्रत्याशी की हार का कारण बनने वाले बृजमोहन सिंह को वैशाली नगर से टिकट मिल गया। पार्टी ने अपने 34 में से दस निवर्तमान विधायकों को वहली सूची में फिर मैदान में उतारा है। इनमें साजा से रविन्द्र चौबे, सरायपाली से डा.हरिदास भारद्वाज, पाटन से भूपेश बघेल, बेमेतरा से ताम्रध्वज साहू, पंडरिया से मोहम्मद अकबर, कवर्धा से योगराज सिंह, राजनांदगांव से उदय मुदलियार, दंतेवाड़ा से महेन्द्र कर्मा, बीजापुर से राजेन्द्र पामभोई एवं कोन्टा से कवासी लकमा हैं। श्री भारद्वाज एवं श्री साहू के क्षेत्र परिसीमन में विलोपित हो गए थे इस कारण उन्हें नई सीटों पर मौका दिया गया है। पार्टी ने नए चेहरों के रूप में अम्बिका मरकाम को सिंहावा, संजारी बालोद से मोहन पटेल, कुरूद से लेखराम साहू, डोंडीलोहारा से अनिता कुमेठी, वैशाली नगर से बृजमोहन सिंह, अहिवारा से डा.शोभा राम बंजारे, खैरागढ़ से मोतीलाल जंघेल, खुज्जी से भोलाराम साहू, मान पुर मोहला से शिव उसारे, कांकेर से प्रीति नेताम, कोंडागांव से मोहन लाल मरकाम, नारायाणपुर से रजनू नेताम तथा बस्तर से लाखेश्वर बघेल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: छत्तीसगढ़ में कांग्रेस टिकट के लिए गुटबाजी