DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो महादेशों में विचार मंथन से हल होंगी वैश्विक समस्याएं : मनमोहन

प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह अपनी चीन यात्रा के दौरान सातवीं एशिया-यूरोप बैठक (एएसईएम 7) में भाग लेने के अलावा विश्व के प्रमुख नेताओं के साथ वैश्विक आर्थिक मंदी के मुद्दे पर व्यापक चर्चा करेंगे। एएसईएम द्वारा इस मौके पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आर्थिक स्थिति के बारे में एक वक्तव्य भी जारी किए जाने की संभावना है। बीजिंग में डॉ. सिंह का मुख्य कार्यक्रम एशिया-यूरोप बैठक में भाग लेने का है। भारत के इस 45 सदस्यीय संगठन में शामिल होने के बाद से इसकी पहली शिखर स्तर की वार्ता हो रही है।ड्ढr ड्ढr पाक भी इस संगठन का सदस्य है। जापान की तीन दिनों की यात्रा के बाद चीन पहुंचे डॉ. सिंह ने बीजिंग अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पत्रकारों के साथ बातचीत में उम्मीद जताई कि दो महादेशों के बीच ‘विचार मंथन’ से आर्थिक संकट समेत अनेक वैश्विक समस्याओं के हल निकलेंगे। डॉ. सिंह ने कहा, ‘यह पहला मौका है जब मैं एशिया-यूरोप बैठक में भाग ले रहा हूं। मेरा ईमानदारी से मानना है कि एशिया और यूरोप के बीच विचार मंथन से अंतरराष्ट्रीय आर्थिक संकट समेत कई वैश्विक समस्याओं के हल निकलेंगे।’ इससे पूर्व जापान यात्रा के दौरान डॉ. सिंह ने कहा कि मौजूदा मंदी और आतंकवाद जैसी चुनौतियों से निपटने में जापान का अनुभव भारत के लिए प्रेरणास्रेत है और वह भविष्य में उसके मार्गदर्शन का इच्छुक है। भारत का मानना है कि हर मोर्चे पर जापान की मजबूती समूचे विश्व के लिए महत्वपूर्ण है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दो महादेशों में विचार मंथन से हल होंगी वैश्विक समस्याएं : मनमोहन