DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आइएएस के खिलाफ प्रिविलेज का नोटिस

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं विधायक प्रदीप बलमुचू ने जल संसाधन विभाग के सचिव डीके तिवारी के खिलाफ विशेषाधिकार (प्रिविलेज) का नोटिस दिया है। विधानसभा से तिवारी को नोटिस दिया गया, जिसका जवाब भी उन्होंने विधानसभा सचिवालय को भेजा है। इस वर्ष बजट सत्र के दौरान प्रदीप बलमुचू द्वारा एक ध्यानाकर्षण में कहा गया था कि सरकार द्वारा कराये जा रहे निर्माण कार्यो में छड़ का रट बढ़ाया गया। सरकार का रट उस समय के बाजार के रट से डेढ़ से तीन गुना बढ़ा हुआ था। सत्र में सरकार की ओर से यह जवाब दिया गया कि जिस काम का टेंडर हो गया है उसका रट नहीं बढ़ाया जा सकता। इस पर विस अध्यक्ष आलमगीर आलम ने नियमन दिया कि इस मामले को सरकार कैबिनेट में लाये।ड्ढr बलमुचू ने बताया कि नियमन के बावजूद सचिव ने कैबिनेट में प्रस्ताव नहीं पेश किया। उल्टे संचिका ही अस्त करने का प्रस्ताव बढ़ा दिया। मंत्री कमलेश सिंह ने भी बिना पढ़े संचिका के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। इसी वजह से डीके तिवारी के खिलाफ विशेषाधिकार का नोटिस दिया गया है। इस संबंध में डीके तिवारी ने बताया कि उन्होंने नोटिस का जवाब दे दिया है। जहां तक संचिका अस्त करने का सवाल है, उन्होंने नियम अनुसार ही काम किया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आइएएस के खिलाफ प्रिविलेज का नोटिस