DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड के निवेशकों को 300 करोड़ से अधिक का नुकसान

शेयर बाजार में लगातार गिरावट ने निवेशकों की कमर तोड़ दी है। अमेरिका में आयी मंदी का सीधा प्रभाव भारतीय शेयर बाजार पर पड़ा है। झारखंड में भी शेयर बाजार में निवेश करनेवाले लोगों की तो कमर ही टूट गयी है। छोटे निवेशकों को निवेश का 70 प्रतिशत से अधिक का नुकसान हो गया है। एक आकलन के मुताबिक झारखंड के निवेशकों को 300 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है। निवेशक उहापोह की स्थिति में हैं कि अब वे अपने शेयरों का क्या करं। हालांकि शेयर बाजार के विशेषज्ञों का मानना है कि सेंसेक्स नीचे आने के पीछे अमेरिका में आयी मंदी के साथ-साथ मनोवैज्ञानिक भय भी है। शेयर बाजार का फंडामेंटल इतना खराब नहीं है, जितना कि दिखायी पड़ रहा है। आनंद राठी ग्रुप के रिानल मैनेजर शशांक भारद्वाज ने बताया कि निवेशक घबरा रहे हैं कि आखिर बाजार कितना नीचे जाकर थमेगा। उन्होंने बताया कि यह लंबे समय तक नहीं दिखायी पड़ेगा। विदेशी निवेशक अपना शेयर सीधे बेचकर निकल जाना चाहते हैं। इस स्थिति में विश्वास का संकट होगा और बाजार में निवेशकों को घाटा उठाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए धीमा ग्रोथ बेहतर साबित हो सकता है। क्रूड आयल और गोल्ड की कीमत में कमी आने से भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। झारखंड में एक लाख के अधिक निवेशक हैं, जिन्होंने शेयर बाजार में पैसे लगाये हैं। इसमें छोटे निवेशकों की संख्या 70 प्रतिशत से अधिक है। भारद्वाज ने कहा कि निवेशकों को चाहिए कि वे किसी विशेषज्ञ से सलाह लेकर ही निवेश करं। शार्ट टर्म निवेश की जगह लांग टर्म निवेश पर जोर दें। निवेशक मन शांत कर बेहतर समय का इंतजार करं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: झारखंड के निवेशकों को 300 करोड़ से अधिक का नुकसान