DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस की कड़ी चौकसी सेछात्र संगठनों के बंद का मिश्रितअसर

महाराष्ट्र में बिहारी छात्रों की पिटाई के खिलाफ आइसा व अन्य छात्र संगठनों द्वारा आहूत ‘बिहार बंद’ का शनिवार को राजधानी और रल क्षेत्र में मिला-जुला असर रहा। शहरी- ग्रामीण इलाकों और रल क्षेत्र में कड़ी पुलिस चौकसी थी। विशेष रणनीति के तहत चहुंओर जाल बिछाये बैठी पुलिस आंदोलनकारी छात्रों के सड़क पर निकलते ही उन्हें गिरफ्तार करती रही नतीजतन कहीं भी छात्रों का उपद्रव या कोई अन्य अप्रिय घटना नहीं हुई। वैसे कुछ जगहों पर उत्तेजित छात्रों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठियां भी भांजी। दिन के पहले पहर में तो सड़क पर वाहनें कम और अधिकांश दुकानों के शटर बंद थे। हालांकि दिन बीतने के साथ ही मार्केट, दफ्तर से लेकर अन्य जगहों पर स्थिति सामान्य हो गई।ड्ढr ड्ढr पटना जिला और पटना रल जिला के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों से 300 से अधिक आंदोलनकारियों को गिरफ्तार किया गया। इनमें आइसा के राज्य सचिव अभ्युदय के अलावा अवधेश लालू व अन्य कई प्रमुख छात्र नेता शामिल हैं। इसके अलावा कंकड़बाग, बोरिंग रोड, अनीसाबाद, पटना जंक्शन, राजेन्द्रनगर आदि इलाकों में छात्रों ने जुलूस निकाला हालांकि पुलिस की सक्रियता के कारण आंदोलनकारियों की एक न चली। इधर रल परिचालन पर बंद का आंशिक असर रहा। बक्सर स्टेशन पर जन साधारण एक्सप्रस को छात्रों ने 40 मिनट तक रोक कर विरोध-प्रदर्शन किया। इससे मुगलसराय के रास्ते पटना आने वाली कुछ ट्रनें प्रभावित हुईं। पुलिस-छात्रों में झड़प, आधा दर्जन छात्रों को चोटें आईंड्ढr पटना (हि.प्र.)। महाराष्ट्र में उत्तर भारतीय छात्रों पर हुए हमले के खिलाफ अपनी सात सूत्री मांगों के समर्थन में छात्र संगठनों ने शनिवार को राजधानी में राजभवन मार्च निकाला। हालांकि पुलिस ने राजभवन पहुंचने से पूर्व ही छात्रों को गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान पुलिस और छात्रों के बीच झड़प भी हुई। इसमें एआईएसएफ के पटना जिला सह सचिव सुशील कुमार के दाहिने हाथ में गंभीर चोट आयी। वहीं आधा दर्जन अन्य छात्रों को भी चोटें आयीं। एआईएसएफ, एआईवाईएफ, एसएफआई और डीवाईएफआई के संयुक्त बैनर तले छात्रों ने शहीद भगत सिंह चौक से मार्च निकाला।छात्रों ने मनसे व शिवसेना पर प्रतिबंध लगाने, राज ठाकर पर देशद्रोह का मुकदमा करने, परीक्षा से वंचित छात्रों के लिए तत्काल पुन: परीक्षा लेने व दूसर राज्यों में परीक्षा देने जा रहे छात्रों को सुरक्षा देने आदि मांगों का नारा लगाते भगत सिंह चौक से राज्यभवन की ओर कूच किया। छात्रों का हुाूम जसे ही जेपी गोलंबर पहुंचा कि वहां पहले से तैनात पुलिस ने सभी छात्रों को गिरफ्तार कर लिया। एआईएसएफ के प्रदेश उपाध्यक्ष विश्वजीत कुमार को उनके आधा दर्जन साथियों के साथ पुलिस ने भगत सिंह चौक पहुंचने से पहले ही गिरफतार कर लिया था। गिरफ्तार छात्रों को देर शाम छोड़ दिया गया। मार्च का नेतृत्व एआईएसएफ के प्रदेश अध्यक्ष अभिनव कुमार अकेला, प्रदेश सचिव मदन मोहन मुरारी, एआईवाईएफ के प्रदेश सचिव विजय कुमार मिश्र, एसएफआई के प्रदेश अध्यक्ष नरश कुमार व डीवाईएफआई के प्रदेश अध्यक्ष महावीर पोद्दार ने किया। मार्च में मुरारी शेखर, रूपक कुमार, राहुल कुमार द्विवेदी, मुकेश कुमार, हिमांशु प्रियदर्शी, दीपक केसरी, संजीव कुमार सिंह, रामनरश महतो व सुरंद्र कुमार आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पुलिस की कड़ी चौकसी सेछात्र संगठनों के बंद का मिश्रितअसर