अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजनीतिक लाभ को बिहारी छात्रों को ‘आग’ में झोंका

पूर्व केन्द्रीय मंत्री और भाजपा सांसद डा. सी पी ठाकुर ने कहा कि यूपीए सरकार ने राजनीतिक लाभ के लिए बिहारी छात्रों को ‘आग’ में झोंक दिया। महाराष्ट्र में जो भी हुआ वह साजिश के तहत हुआ। केन्द्र, महाराष्ट्र सरकार और रलवे की भी अपनी खुफिया एजेन्सियां हैं। सरकार पहले से भी वहां की स्थिति से अवगत थी। छात्रों ने भी वहां परीक्षा केन्द्र नहीं देने की मांग की थी। बावजूद वहां केन्द्र रखकर बिहारी छात्रों के साथ अन्याय किया गया। उन्होंने केन्द्र से राज्य को टैक्स फ्री घोषित कर विकास की मॉनीटरिंग के लिए योजना आयोग और वित्त मंत्रालय में स्पेशल सेल बनाने की मांग की। शनिवार को अपने आवास पर प्रेस को संबोधित करते हुए डा. ठाकुर ने कहा कि महाराष्ट्र में गत विधान सभा चुनाव के पूर्व भी ऐसा ही माहौल पैदाकर वहां यूपीए सत्ता में आई। अब लोक सभा चुनाव में माइलेज लेने के लिए बिहारी छात्रों को बलि का बकरा बनाया गया। राज ठाकर को तो कड़ी सजा मिलनी ही चाहिए ऐसी व्यवस्था भी होनी चाहिए कि दूसरा कोई ऐसा करने का दुस्साहस न कर। राज्य के लिए विशेष सेल बनने से कृषि और जल आधारित उद्योगों का जाल बिछ जायेगा। उन्होंने शिक्षण संस्थाओं में मौलिक सुधार की वकालत करते हुए कहा कि इससे छोटी-छोटी जरूरतों के लिए बिहारी छात्रों को बाहर नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने तोड़ -फोड़ की घटना की निंदा करते हुए कहा कि नफरत करना बिहारियों की फितरत में नही है। यह चंद ऐसे राज्यों में है जहां से अलगाववाद की आवाज कभी नहीं उठी। एकता और संघवाद की चासनी में सराबोर हैं यहां के नागरिक। दूसर राज्यों के नेताओं को भी यहां उतना ही प्यार मिला जितना राज्यवासियों को । प्रतिक्रिया व्यक्त करने के इस तरीके से हमारी पुरानी साख को धक्का लगेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजनीतिक लाभ को बिहारी छात्रों को ‘आग’ में झोंका