अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूबे में नए मेडिकल कॉलेज खोलने में उदारता दिखाए

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कांग्रस सरकार द्वारा 24 वर्ष पूर्व स्थापित स्व. इंदिरागांधी की प्रतिमा को उनकी पार्टी को सौंपते हुए आईजीआईएमएस में उसकी जगह भव्य प्रतिमा स्थापित करा दी। कांग्रस पार्टी ने मुख्यमंत्री के इस कार्य के लिए आभार प्रकट करते हुए स्व.राजीवगांधी की प्रतिमा स्थापित करने का अनुरोध भी कर डाला। मुख्यमंत्री ने कांग्रस द्वारा आभार प्रकट करने को अपने लिए बोनस माना।ड्ढr मुख्यमंत्री बनने के बाद नीतीश कुमार ने दो वर्ष पूर्व आईजीआईएमएस में आयोजित एक समारोह में पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरागांधी की प्रतिमा को देखकर उनके व्यक्ितत्व के अनुरूप भव्य प्रतिमा लगाने का निर्देश दिया था। शनिवार को जब वे प्रतिमा सह मेमोरियल पार्क का उद्घाटन कर रहे थे तो कांग्रस के नेता प्रमचन्द्र मिश्रा ने इस कार्य के लिए उनका आभार प्रकट किया। उन्होंने एमसीआई से अनुरोध किया कि राज्य में नए मेडिकल कॉलेज खोलने में उदारता दिखाए। उन्होंने कहा कि दूसर राज्यों के मेडिकल कॉलेजों का कच्चा-चिट्ठा भी उनके पास है। उन्होंने चेतावनी दी कि संस्थान के अन्दर राजनीति नहीं होनी चाहिए। श्री कुमार ने कहा कि राज्य में चलाए जा रहे छात्र आंदोलन पर विराम लगाने की आवश्यकता है। बिहार के लोगों पर हाथ उठाने की घटना से सभी चिंतित हैं। इसके पूर्व स्वास्थ्य मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा कि स्व.इंदिरागांधी की प्रतिमा स्थापित करना मुख्यमंत्री का लोकतंत्र में आस्था का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2004-05 में दो करोड़ रुपये की जगह 2008-0में दवा मद में 68 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी गयी है। सभी को संबोधित करनेवालों में ऊर्जा मंत्री रामाश्रय प्रसाद सिंह, विधान परिषद में सत्तारूढ़ दल के नेता गंगा प्रसाद, कांग्रस के नेता प्रमचन्द्र मिश्र और निदेशक डा.अरुण कुमार ने भी संबोधित किया। इस मौके पर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव दीपक कुमार, अपर आयुक्त विवेक सिंह सहित संस्थान के शासीनिकाय के सदस्य और चिकित्सक एवं कर्मचारी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सूबे में नए मेडिकल कॉलेज खोलने में उदारता दिखाए