DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंटर वोकेशनल के हचाारों छात्र एडमिशन से वंचित

राज्य में वोकेशनल कोर्स से इंटर करनेवाले छात्र एडमिशन के लिए भटक रहे हैं। तीनों यूनिवर्सिटी के कई कॉलेज संबधित विषय नहीं होने का हवाला देकर छात्रों को लौटा रहे हैं। इस वर्ष लगभग ढाई हाार छात्रों ने इंटर वोकेशनल पास किया है। इनमें से एक हाार से ज्यादा छात्र अब भी एडमिशन से वंचित हैं। हाल ही में एक छात्रा ने इंटर इलेक्ट्रॉनिक्स वोकेशनल पास करने के बाद राजधानी के एक प्रतिष्ठित कॉलेज में कॉमर्स में एडमिशन के लिए आवेदन दिया, परंतु उसे यह कह कर वापस कर दिया गया कि उसने संबंधित विषय में इंटर की पढ़ाई पूरी नहीं की है। इसी प्रकार वोकेशनल कोर्स (ट्रेंड) में इंटर करनेवाले एक छात्र को कॉलेज में एडमिशन नहीं दिया। उसे कहा गया कि उसने जिस विषय में इंटर की पढ़ाई की है, ग्रेजुएशन में उससे संबंधित विषय नहीं है। हालांकि नियमानुसार साइंस फैकल्टी का छात्र आइएससी करने के बाद बीए या बीकॉम में एडमिशन ले सकता है। झारखंड एकेडेमिक कौंसिल अध्यक्ष डॉ शालिग्राम यादव के अनुसार ये कोर्स सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त हैं। इंटर के ज्यादातर वोकेशनल कोर्स साइंस फैकल्टी के अंतर्गत आते हैं। इस संबंध में रांची यूनिवर्सिटी के प्रोवीसी डॉ एसके राय ने कहा कि वोकेशनल में ट्रेंड विषयों को देखा जाता है। इसमें साइंस से जुड़े विषय रहे, तो छात्रों को बीए, बीएससी और बीकॉम किसी में भी एडमिशन मिल सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: इंटर वोकेशनल के हचाारों छात्र एडमिशन से वंचित