अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोटला में सीरीचा जीतने के इरादे से उतरेगा भारत

या फिट अनिल कुंबले को खिलाने के लिए युवा लेग स्पिनर अमित मिश्रा को बाहर बैठाया जाएगा? इस सवाल के जवाब में भारतीय टीम के प्रशिक्षक गैरी कर्स्टन ने सवाल दागा, आप ही बताइए कि ऐसे में आप क्या करेंगे? कुंबले टीम के कप्तान हैं और फिट होंगे तो निश्चित रूप से खेलेंगे। क्रिकेट प्रेमियों के लिए यह थोड़ी खुशी और थोड़े गम वाली बात हो सकती है। कुंबले कंधे में तकलीफ से उबर जाएंगे तो दिवाली के अगले दिन बुधवार को शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में उनके लिए एकादश से हटाया जाएगा मोहाली टेस्ट के हीरो अमित मिश्रा को। इसके अलावा कोई ऐसा विकल्प नहीं है जिस पर विचार किया जा रहा हो। भारतीय टीम के कोच गैरी कर्स्टन ने सोमवार को अभ्यास के बाद यह घोषणा बिना किसी झिझक के कर दी है। लेकिन इसके बाद भी मिश्रा के खेलने की संभावना बन सकती है, अगर हरभजन सिंह पूरी तरह से फिट नहीं हुए तो। वह पैर के अंगूठे में चोट से जूझ रहे हैं। अभी टेस्ट शुरू होने में काफी समय बचा है। कोच ने यह भी साफ कर दिया है कि एक बल्लेबाज को कम करके तीन स्पिनरों के साथ उतरने की कोई योजना नहीं है। मिश्रा के लिए कोच की घोषणा झटका देने वाली है, लेकिन वह इस भरोसे मन मसोस कर बैठ सकते हैं कि, आने वाला कल उनका है। उन्होंने दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम के खिलाफ अपनी प्रतिभा और क्षमता दिखा दी है। मिश्रा को बाहर कर जब कुंबले अपने और भारतीय टीम के लिए बेहद लकी मैदान फिरोशाह कोटला में उतरंगे तो उनके ऊपर बेहतर प्रदर्शन का दबाव भी कम नहीं रहेगा। वह बेंगलुरु में खेले पहले टेस्ट मैच में पूरी तरह फिट न होने पर भी खेले थे और एक भी विकेट हासिल नहीं कर सके थे। कर्स्टन ने कहा, अनिल अच्छे नजर आ रहे हैं। जिस तरह से सब कुछ चल रहा है उससे मुझे बहुत खुशी है। चार टेस्ट मैचों की सीरीा में 1-0 से आगे भारतीय टीम कोटला टेस्ट जीत सीरीा पर कब्जा करने को बेताब हैं। इसके लिए पिच पर बारीक नजर रखी जा रही है। बोर्ड की ग्राउंड और पिच समिति के अध्यक्ष दलजीत सिंह रविवार शाम से ही कोटला में डेरा डाले हुए हैं। अभी पिच पर घास नजर आ रही है, जिसे देख भारतीय खेमा खुश नहीं है। पिच को एकदम से गंजा कर दिया जाए, इसका पूरा प्रयास चल रहा है। बावजूद इसके कि हमार तेज गेंदबाजों की जोड़ी जहीर खान ओर इशांत शर्मा जबर्दस्त फॉर्म में हैं। एक अधिकारी के अनुसार बोर्ड के एक शीर्ष अधिकारी ने फोन कर पिच से घास पूरी तरह से हटाने के निर्देश दिए हैं। क्यूरटर राधेश्याम शर्मा पहले ही बोर्ड से इस बयान के लिए झिड़की खा चुके हैं कि, मैं ऐसी पिच तैयार करूंगा जो कुंबले के लिए जमकर मददगार होगी। अब वह कह रहे हैं कि, एक अच्छी टेस्ट पिच तैयार की जाएगी, जिस पर भारतीय टीम जीते। लेकिन यह स्पिनरों का अखाड़ा नहीं होगी। इस पर धूल नहीं उड़ेगी और न ही यह जल्दी से टूटेगी। भारतीय टीम का हौसला इस बात से बुलंद है कि उसके तेज और स्पिन गेंदबाजों से लेकर ओपनर और मध्यक्रम के बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन कर आत्मविश्वास से लबरा हैं। कर्स्टन ने कहा, मोहाली में टीम ने बेंचमार्क प्रदर्शन किया है। हम इस क्रम को आगे भी जारी रखना चाहते हैं। जहीर खान और इशांत शर्मा बहुत ही आकर्षक तेज गेंदबाज के रूप में उभर कर सामने आए हैं। भारतीय क्रिकेट के लिए यह अच्छी बात है कि वे टेस्ट में शुरुआती विकेट झटक रहे हैं। अब पहले वाली बात नहीं है कि स्पिनर 40 ओवर फेंक दो दिन में पांच विकेट चटका रहे हों। जब स्पिनर आते हैं तब तक जहीर और इशांत विकेट झटक कर दबाव बना चुके होते हैं। भारतीय ओपनर विरन्दर सहवाग और गौतम गंभीर जबर्दस्त फॉर्म में हैं। अपने घरलू मैदान में वह खतरनाक हो सकते हैं। राहुल द्रविड़ बड़ी पारी खेलने को बेताब हैं और सचिन तेंदुलकर, सौरभ गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण और महेन्द्र सिंह धोनी के रूप में लंबी बल्लेबाजी भारत के पासा है, जो अपने दिन ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के छक्के छुड़ा सकते हैं। सीरीा में 0-1 से पिछड़ी ऑस्ट्रेलियाई टीम की मैच में संभावना के बार में पूछने पर कोच ने कहा, दो बहुत ही प्रतिस्पर्धात्मक, भावनात्मक और आकर्षक टीमों में मुकाबला हो रहा है। टेस्ट क्रिकेट के लिए यह बहुत ही अच्छा है। हमें पता है कि ऑस्ट्रेलियाई पूरी तैयारी के साथ उतरंगे। वे हर हालत में फाइटबैक करंगे। ऑस्ट्रेलियाई टीम का स्पिन आक्रमण तो कमजोर है, ओर मिशेल जानसन को छोड़ तेज गेंदबाज भी पूरी लय में नजर नहीं आ रहे हैं। ब्रेट ली की गेंदों में धार नहीं है। पीटर सिडल स्टुअर्ट क्लार्क कोहनी की चोट से उबरने में जुटे हैं। उनके खेलने पर प्रश्नचिन्ह लगा हुआ है। देखने वाली बात यह होगी कि बिशन सिंह बेदी से गुर सीखने के बाद स्पिन जोड़ी ऑफ स्पिनर जेसन क्रेाा और लेग स्पिनर कैमरुन व्हाइट मौका मिलने पर कैसा प्रदर्शन करते हैं? मोहाली से लौटने पर कप्तान रिकी पॉन्टिंग के चेहर का रंग बुरी तरह से उड़ा हुआ है। वह इतने दबाव में पहले कभी नजर नहीं आए। उनकी मुस्कुराहट गायब हो चुकी है। इशांत की गेंदें उनके होश उड़ा रही हैं। ओपनर मैथ्यू हेडन भी रन बनाने को बेताब हैं, लेकिन वे भी जहीर खान और हरभजन से पार नहीं पा रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया इस समय विकेट स्थिति में है और पलटवार को बेताब है। इस बात की संभावना है कि हेडन के साथ वह शॉन मार्श को पारी शुरू करने के लिए उतार दे। मार्श भारत में आईपीएल के दौरान सबसे ज्याद रन बनाने वाले बल्लेबाज बने थे। टेस्ट मैच में पहले दिन का पहला सत्र बड़ा ही महत्वपूर्ण होगा। क्योंकि रात को छूटे बम पटाखें का धुंआ सुबह गुल खिला सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोटला में सीरीचा जीतने के इरादे से उतरेगा भारत