DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आचामगढ़ वालों पर इस कदर शक!

पकड़ा आतंकवादियों सेोुड़ी पूछताछ के लिए और ोल ो दिया चार सौ बीसी में। आामगढ़ फोबिया से ग्रस्त यूपी पुलिस ने रविवार शाम सात लोगों को दफा 420 में ोल भिावा दिया। इनमें से चार आामगढ़ के हैं। ये लोग पूर्वाचल के एक मानवाधिकार संगठन सेोुड़े हैं और पुलिसिया कार्रवाई के खिलाफ आवाा उठाते रहे हैं। इन्हें शुक्रवार रात उत्सर्ग एक्सप्रेस से लखनऊ में उतरने के बाद उठाया गया। माकपा नेता सुभाषिनी अली ने आरोप लगाया है किोब उन्होंने मामले की शिकायत प्रमुख सचिव गृह और एटीएस के एसपी से की तो पुलिस ने उन लोगों को फर्ाी मामले में ोल ो दिया।ड्ढr कभी कैफियात एक्सप्रेस से निर्दोष लोगों को शक के आधार पर उठायाोा रहा है तो कभी उत्सर्ग से। आामगढ़ से आने वालों के प्रति पुलिस एोन्सियों का रवैया अब खतरनाक हद तक पहुँचताोा रहा है। यह घटना शुक्रवार रात की है। मानवाधिकार कार्यकर्ता और पेशे से वकील मो. शोएब ने बताया कि शुक्रवार रात आामगढ़ के कुछ कार्यकर्ताओं ने उन्हें बताया कि ‘पीपुल्स यूनियन फॉर ह्यूमन राइट’ के पदाधिकारी रााीव यादव के भाई विनोद यादव का कुछ पता नहीं चल रहा। उनके साथ आामगढ़ के ही सरफराा, दादााी रााभर व बदरआलम आदि भी थे। उन्होंने बताया कि पुलिस इसलिए नाराा है क्योंकि रााीव ने एक अखबार में रामपुर सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर पर हुए हमले व तारिक, खालिद व अबुल बशर की गिरफ्तारी सेोुड़ी कुछ ऐसी खबरं छपवाई थीं,ोो पुलिस एोन्सियों को नागवार गुारीं। उन्होंने बताया कि शुक्रवार रात साढ़े ग्यारह बो के करीब विनोद व अन्य लोगों के गायब होने की सूचना उन्होंने सौ नम्बर पर फोन करके र्दा करा दी। इस बीच आामगढ़ के लोगों ने इस प्रकरण कीोानकारी माकपा नेता सुभाषिनी अली को दी। सुश्री अली ने इस बार में शनिवार को प्रमुख सचिव (गृह) कुँवर फतेह बहादुर और एटीएस के एसपी रााीव सब्बरवाल कोोानकारी दी। दोनों ही अधिकारियों ने उन्हें मामले को देखने का आश्वासन दिया। बाद में एटीएस ने साफ किया कि उन्होंने कोई गिरफ्तारी नहीं की। आामगढ़ में भी गायब लोगों के घरवालों ने थाने में सूचना दी। सोमवार शाम अचानक आलमबाग थाने की पुलिस ने सात लोगों को धोखाधड़ी की धाराओं में अदालत में पेश करके ोल ो दिया। इनमें से एक ने वकील के फोन से सुभाषिनी अली को बताया कि उनसे सादी वर्दी में एसटीएफ वालों ने आामगढ़ से उठाए आरोपित संदिग्धों के बार में पूछताछ की और यहोानने की कोशिश की कि उनसे क्या रिश्ते हैं। लोग नकली सोना बेचते थे : पेा 20ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आचामगढ़ वालों पर इस कदर शक!