अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपनी कॉपियां देख सकेंगे छात्र

रांची यूनिवर्सिटी के छात्र अब सूचना के अधिकार (आरटीआइ) के तहत अपनी उत्तर पुस्तिकाएं देख सकेंगे। इसके लिए छात्रों को निर्धारित प्रक्रिया के तहत आवेदन और शुल्क जमा करना होगा। यह निर्णय 27 अक्तूबर को इंजीनियरिंग सेल की बैठक में लिया गया। इसमें छात्र प्रतिनिधि भी शामिल थे। बैठक में वीसी प्रो एए खान ने कहा कि किसी भी हालत में 45 दिनों के अंदर रिाल्ट जारी किया जायेगा। वीसी ने कहा कि कोई भी शिकायत होने पर छात्र प्राचार्य के माध्यम से यूनिवर्सिटी को सूचित कर सकते हैं।ड्ढr सोमवार को हुई बैठक की अध्यक्षता वीसी प्रो एए खान ने की। इसमें रािस्ट्रार डॉ ज्योति कुमार, डॉ जीपी शरण, डॉ सीएसपी लुगून, डॉ संजीव श्रीवास्तव, डॉ ए भट्टाचार्य एवं छात्र प्रतिनिधि के रूप में नारायण, अमितेश रांन, नदीम फिरो, अंसारूल हक, सारिका एवं डॉ गंगा प्रसाद सिंह शामिल थे।ड्ढr इंजीनियरिंग बोर्ड ऑफ स्टडीा का गठन होगा : इंजीनियरिंग की शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिए इंजीनियरिंग बोर्ड ऑफ स्टडीा का गठन होगा। इसके अध्यक्ष डीन साइंस होंगे। सभी इंजीनियरिंग कॉलेज के प्राचार्य, हर ब्रांच के दो विशेषज्ञ इसके सदस्य और परीक्षा विभाग के असिसटेंट रािस्ट्रार डॉ गंगा प्रसाद सिंह इसके सदस्य सचिव होंगे। सदस्य एवं सीआइटी और आरवीएस इंजीनियरिंग कॉलेज के चार-चार छात्र प्रतिनिधि आमंत्रित सदस्य होंगे।ड्ढr परीक्षाएं दिसंबर मेंड्ढr रांची यूनिवर्सिटी द्वारा संचालित बीएससी इंजीनियरिंग के सत्र 2004-08 के छठे सेमेस्टर एवं 2008-0े चौथे सेमेस्टर तथा 2008-10 के चौथे सेमेस्टर की परीक्षा दिसंबर में होगी। इसके अलावा बीए कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग जमशेदपुर के सत्र 2007-08 के प्रथम सेमेस्टर की विशेष परीक्षा दिसंबर के प्रथम सप्ताह में होगी। ये निर्णय इंजीनियरिंग सेल की बैठक में लिये गये।ड्ढr सिलेबस में संशोधन का निर्देश : रांची यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो एए खान ने इंजीनियरिंग सेल को निर्देश दिया है कि किसी भी हालत में बीएससी इंजीनियरिंग के कोर्स का नया सिलेबस तैयार कर लिया जाये, ताकि इसे एकेडेमिक कौंसिल में रखा जा सके।ड्ढr स्थानीय स्तर पर होगा मूल्यांकन : इंजीनियरिंग की उत्तर पुस्तकाओं का मूल्यांकन अब स्थानीय स्तर पर होगा। इसके लिए सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों से प्राचार्यो के नाम मांगे गये हैं। वीसी प्रो एए खान ने प्राचार्यो को चार शिक्षकों का नाम तत्काल भेजने को कहा है। ये शिक्षक एसोसिएट प्रोफेसर के नीचे के रैंक के नहीं होंगे। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अपनी कॉपियां देख सकेंगे छात्र