DA Image
1 अप्रैल, 2020|2:00|IST

अगली स्टोरी

मुंबई में पटना के राहुल का ‘एनकाउंटर’

सोमवार की सुबह मुंबई में एक युवक ने कथित तौर पर बस को अगवा करने की कोशिश की और पुलिस एनकाउंटर में अपनी जान गंवा बैठा। युवक की पहचान राहुल राज (23 वर्ष) के रूप में की गई है। वह पटना का रहने वाला था और 24 अक्टूबर को ही रोजगार की तलाश में मुंबई आया था। फायरिंग के दौरान बस यात्री मनोज भगत भी घायल हो गया। हालांकि इस पूर प्रकरण में मुंबई पुलिस की भूमिका पर कई सवाल भी उठ खड़े हुए हैं। एनकाउंटर को गंभीरता से लेते हुए केंद्र ने इस मामले में महाराष्ट्र सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। देर शाम प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख से राज्य की स्थिति के बारे में पूछताछ की। इसके तत्काल बाद राज्य सरकार ने एनकाउंटर की जांच का आदेश दे दिया।ड्ढr ड्ढr महाराष्ट्र के गृह मंत्री आरआर पाटिल ने सुबह के अपने बयान कि गोली का जवाब गोली से दिया जाएगा से पलटी मारते हुए इस मामले की जांच का ऐलान कर दिया। उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव को जांच का जिम्मा सौंपा गया है। इस बीच राहुल के एनकाउंटर का ब्योरा लेने के लिए बिहार सरकार ने भी सीआईडी के आईजी राजेश रंजन को मुंबई रवाना किया। एडीजी (मुख्यालय) अनिल सिन्हा के अनुसार आईजी सीआईडी महाराष्ट्र पुलिस से एनकाउंटर से जुड़े पूर घटनाक्रम का ब्योरा लेंगे। मुंबई के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया ने बताया कि यह घटना मुंबई के कुर्ला इलाके में बेल बाजार के नजदीक हुई, जहां युवक ने राज्य परिवहन निगम (बेस्ट) के बस को अगवा करने का प्रयास किया। उसने पास खड़े पुलिसकर्मियों पर गोली चलाई जिसके बाद पुलिस की कार्रवाई में उसको मार गिराया गया। गोली मारे जाने के पहले वह बस के ऊपरी कॉरीडोर में इधर-उधर भागकर पुलिस को चेतावनी दे रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बस में सवार होने के कुछ देर बाद उसने हथियार निकालकर लोगों को धमकाने लगा। उसने बस के कंडक्टर को भी बांधकर बस के पीछे डाल दिया था। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि वह बार-बार लोगों से मोबाइल मांग रहा था और कह रहा था कि वह मुंबई पुलिस कमिश्नर को फोन करना चाहता है, मीडिया से बात करना चाहता है, मनसे प्रमुख राज ठाकर को संदेश देना चाहता है। पुलिस के अनुसार राहुल ने तीन-चार राउंड गोलियां चलाईं जबकि पुलिस ने करीब 23 राउंड फयरिंग कीं। राहुल को सिर में दो और पेट में दो गोलियां लगीं। बेस्ट के महाप्रबंधक उत्तम खोब्रागड़े ने बताया कि घटना सुबह लगभग साढ़े बजे हुई।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि युवक डबल डेकर बस नं 332 में साकीनाका से चढ़ा और जब बस कंडक्टर ने उससे टिकट पूछा तो उसने कंडक्टर के हाथ बांध दिए व हवा में गोली चला दी और कहा कि मैं पटना से आया हूं। मैं किसी को कोई नुकसान पहुंचाने के लिए नहीं आया। मैं सिर्फ राज ठाकरे को संदेश देना चाहता था। उन्होंने बताया कि इसी बीच दूसरे बस कंडक्टर ने भाग कर पुलिस को सूचित कर दिया। पुलिस ने तुरंत बस को चारों तरफ से घेर लिया और उसे आत्मसमर्पण के लिए कहा लेकिन उसने जवाब में गोली चला दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में युवक बुरी तरह घायल हो गया और राजावाड़ी अस्पताल में भर्ती करने से पूर्व ही डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: मुंबई में पटना के राहुल का ‘एनकाउंटर’