अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एकचाुटता पहले होती तो इतना नुकसान नहीं होता : राजद

राजद ने महाराष्ट्र के मामले में बिहार के सभी राजनीतिक दलों की एकाुटता की सराहना करते हुए उम्मीद जाहिर की कि राज्य के हित में सभी दल इसी तरह एक होकर काम करंगे। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव श्याम राक और प्रदेश महासचिव डा. निहोरा प्रसाद यादव ने कहा कि यह एकाुटता अगर पहले हुई होती तो राज्य के लोगों को इतना नुकसान नहीं होता। राजद ने कहा कि बिहार की छवि बिगाड़ने में उन लोगों की भूमिका अधिक है जो इस समय राज्य में शासन कर रहे हैं। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद की छवि को बिगाड़ने की कोशिश में इन लोगों ने राज्य का नुकसान किया। केंद्र में एनडीए की सरकार थी। उसने राज्य को आर्थिक मदद नहीं दी।ड्ढr ड्ढr राजद ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सलाह दी है कि वे शिवसेना जसे संगठनों की मदद करनेवालों का सहारा न लें। राजद ने कहा कि शिवसेना का रिश्ता भाजपा से है। भाजपा की मदद से नीतीश कुमार सरकार चला रहे हैं। राजद ने कहा कि शिवसेना और मनसे में फर्क नहीं है। तभी तो मुंबई पुलिस ने पटना के युवक राहुल राज की हत्या की तो शिवसेना प्रमुख ने निर्दोष युवक को बिहार का माफिया करार दिया। छात्र आंदोलन को समर्थन देगी मालेड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। भाकपा माले सूबे के छात्र आंदोलन को समर्थन देगी। महाराष्ट्र में बिहारी छात्रों के साथ हुए र्दुव्‍यवहार के खिलाफ शुरू हुए आंदोलन को जायज ठहराते हुए माले के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा कि छात्रों की बगावत सही है। उन्होंने कहा कि राज ठाकर पर देशद्रोह का मुकदमा करने की बजाय नीतीश सरकार सूबे के छात्रों पर ही देशद्रोह का मुकदमा कर रही है। छात्र आंदोलन की उपज नीतीश कुमार छात्रों की भावनाओं को नहीं समझ पा रहे। दीपावली एवं छठ पर्व के अवसर पर सूबे के 500 छात्रों को उनकी सरकार ने जेलों में बन्द कर रखा है।ड्ढr संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि बिहार बन्द में शरीक होने वाले बेतिया के 23 छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा ठोक दिया गया है। एक तरफ पवन और राहुल राज महाराष्ट्र में राज ठाकर के आतंक के शिकार हो गये तो दूसरी तरफ उनके समर्थन में खड़े होने वाले छात्रों को नीतीश सरकार आतंकित कर रही है।ड्ढr ड्ढr उन्होंने शिवसेना एवं मनसे पर तुरंत पाबन्दी लगाने और राहुल राज की हत्या की घटना की सुप्रीम कोर्ट के कार्यरत जज से न्यायिक जांच की मांग की। जेलों में बन्द सभी छात्रों की बिना शर्त रिहाई की मांग भी की। श्री भट्टाचार्य ने कहा कि छात्रों की अपील के बावजूद परीक्षा केन्द्र महाराष्ट्र में रखकर रलमंत्री लालू प्रसाद ने जबरदस्त लापरवाही की। उन्होंने कांग्रस, भाजपा, राजद, लोजपा और एनसीपी से सवाल किया कि वे राज ठाकर पर कड़ी कार्रवाई करने से भाग क्यों रहे हैं? जनता को यह बतायें। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर गुप्त और खुला आतंक फैलाने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि मालेगांव की घटना से परत खुलने लगी है। उग्र साम्प्रदायिक होने के साथ ही आतंकवाद फैलाने में संघ परिवार आगे है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एकचाुटता पहले होती तो इतना नुकसान नहीं होता : राजद