DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

5,000 करोड़ की फचर्ाी बिक्री

सत्यम में 7800 करोड़ रुपए के घोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने कहा है कि कंपनी की बिक्री को फर्ाी तरीके से 5,117 करोड़ रुपए ज्यादा दिखाया गया। इसके लिए एकाउंट्स में भारी हेराफेरी की गई। सीबीआई ने जांच में पाया कि सत्यम के अधिकारियों ने इसके लिए क्लाइंट प्रोजेक्ट्स पर काम करने वाले लोगों के काम करने के घंटे में गड़बड़ी की। इसके जरिए 4,746 करोड़ रुपए की ज्यादा बिक्री दिखाई गई। अधिकारियों द्वारा फर्ाी बिल बनाए जाते और इसे केवल कंपनी के वित्त विभाग को दिखाया जाता न कि कंपनी के क्लाइंट्स को। सीबीआई को ऐसे 7,500 नकली बिल मिले हैं। इनमें से 6,603 नकली बिलों की कंपनी के एकाउंटिंग बुक में एंट्री भी हो चुकी थी। सीबीआई के अनुसार ज्यादा बिक्री दिखाने के लिए सत्यम ने झूठे बिल का सहारा लिया और बैंक खातों में भी इसे गलत तरीके से प्राप्तियों के रूप में दिखाया जाता था। रामालिंगा राजू और उनके भाई की इसमें क्या भूमिका थी, इस बार में सीबीआई ने फिलहाल कुछ नहीं कहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 5,000 करोड़ की फचर्ाी बिक्री