झलक भर पाये-इसी में इतराये। - झलक भर पाये-इसी में इतराये। DA Image
19 फरवरी, 2020|3:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झलक भर पाये-इसी में इतराये।

तमाम संशय के बाद नीतीश कुमार जदयू के प्रदेश कार्यालय तो पहुंचे, लेकिन समयाभाव में कार्यकर्ताओं से विचार विमर्श नहीं कर सके। फिर भी नेताओं-कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ा। मन में मलाल रहा कि कुछ संदेश मिल जाता, तो अच्छा होता।ड्ढr टाइट कार्यक्रम में नीतीश कुमार का रामगढ़ और रांची आना हुआ। न्रामगढ़ से रांची पहुंचने में थोड़ी दे हो गयी। 5.10 बजे नीतीश कुमार पार्टी कार्यालय पहुंचे। स्वागत में जोरदार नारबाजी हुई। बिहार से श्रवण कुमार भी आये थे। वैसे नीतीश ने नेताओं से पार्टी पर ध्यान देने की बात कही।ड्ढr इसके बाद मीडिया ने उन्हें घेर लिया। इधर कुर्सियां पकड़े कार्यकर्ताओं ने मीडिया से हटने की गुजारिश भी की। घड़ी पर नजर पड़ते ही नीतीश कुमार राधाकृष्ण किशोर के आवास पर चले गये। वहां रमेश सिंह मुंडा की पत्नी वसुंधरा देवी और बेटा विकास मुंडा से मिले। हालचाल लिया। किशोर ने अपने अवास पर नाश्ते की व्यवस्था की थी। लेकिन शीर्ष नेताओं को समय नहीं मिला। उनके एयरपोर्ट जाते ही कार्यकर्ताओं ने चाय-नाश्ते का आनंद लिया। राधाकृष्ण किशोर, जलेश्वर महतो, कामेश्वर नाथ दास, रामचंद्र केसरी, मधु सिंह, दशरथ सिंह, कृष्णानंद मिश्रा, प्रमोद मिश्रा, भगवान सिंह, संजय सहाय, श्रवण कुमार, डॉ आफताब जमील, महेश काशी, राजाराम महतो, संजय कुमार सिंह, बिगा मिंज, चंद्रमोहन पटेल, फुलचंद पुरान, रामजी प्रसाद, मो हसीब खान, जेपी सिंह, उपेंद्र राक, आशा शर्मा, एनके सिंह, लालचन महतो, दामोदर महतो, राजीव रांन सिंह, गोपेश्वर महतो, औरंगजेब आलम, गणेश पांडे, अबु सइद अंसारी आदि ने नेता का स्वागत किया। पार्टी कार्यालय से लौटकर शाम 5.40 बजे विमान से वह दिल्ली चले गये।ड्ढr नीतीश जी का आशीर्वाद मिला: वसुंधरा देवीड्ढr जदयू रमेश सिंह मुंडा की पत्नी वसुंधरा देवी को चुनाव लड़ाना चाहता है। पार्टी के शीर्ष नेताओं की भी इच्छा है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक नीतीश कुमार ने इस मुद्दे पर विस्तार से विचार- विमर्श करने की बात कही है। संकेत मिले हैं कि पार्टी नेताओं के साथ वसुंधरा देवी पटना जायेंगी। नीतीश कुमार से क्या बात हुई पूछे जाने पर वसुंधरा देवी ने कहा कि उनका आशीर्वाद मिला है। प्रहलाद मुंडा के आजसू में शामिल होने के सवाल को अफवाह बताया। प्रहलाद मुंडा रमेश मुंडा के ही पुत्र हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: झलक भर पाये-इसी में इतराये।