DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ममता से समर्थन मांगने में प्रणव को कोई ऐतराज नहीं

ममता से समर्थन मांगने में प्रणव को कोई ऐतराज नहीं

संप्रग के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार घोषित किए जाने के एक दिन बाद वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने शनिवार को संकेत दिया कि उन्हें देश के शीर्ष संवैधानिक पद के लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का समर्थन मांगने में कोई ऐतराज नहीं है।

एसोचैम के एक समारोह से इतर मुखर्जी ने संवाददाताओं के सवाल पर कहा कि कल मैंने अपनी प्रतिक्रिया दी थी कि मैं सभी संबंधित पक्षों से सहयोग मांगूंगा।
 संप्रग द्वारा मुखर्जी को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद से तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी अलग थलग पड़ गई हैं, जिन्होंने दो दिन पहले ही पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का नाम इस पद के लिए सुझाया था और अब भी अपने फैसले पर कायम हैं। हालांकि कलाम ने राष्ट्रपति पद की दौड़ में शामिल होने को लेकर सार्वजनिक तौर पर कोई सहमति नहीं जताई है।

ममता ने संप्रग के आधिकारिक रुख का समर्थन करने से इनकार करते हुए शनिवार को फेसबुक पर मिसाइल मैन कलाम के लिए समर्थन मांगा।

प्रणव मुखर्जी ने कल कहा था कि मेरे पांच दशक लंबे राजनीतिक कॅरियर में मुझे मेरी पार्टी सहयोगियों के साथ सभी राजनीतिक दलों के सदस्यों और नेताओं का स्नेह, प्यार और भरोसा मिला है। मैं उनका अत्यंत आभारी हूं। उन्होंने कहा था कि ममता बनर्जी मेरी बहन जैसी हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ममता से समर्थन मांगने में प्रणव को कोई ऐतराज नहीं