अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमीन बनाम आइसक्रीम

अभी तक इसी मुगालते में था कि मैं सिंगुर में नहीं हूं सो सेफ हूं। कोई ममता दी खौंखिया कर टाटा के तड़ी तोबड़े की तरह मुझे बेदखल नहीं कर सकतीं। मगर जब से लालगंज (रायबरली) में रलवे कोच फैक्ट्री को लेकर माया जी वर्सेज सोनिया जी तलवारं तनी हैं, मेरा कलेजा हौका खा गया है। इसी जर (दौलत) जन (नारी) और जमीन को लेकर पानीपत की कई लड़ाइयां हो चुकी हैं। मसल मशहूर है कि कुएं में भांग पड़ेगी तो नशा मेंढकी पर भी चढ़ेगा। मेरा वही हाल है। लफड़ा यह है कि मेर मकान के पीछे मेरी कुछ जमीन पड़ी है जो फिलहाल भैंसों और सूअरों का ओपन एयर स्टेडियम है। जमीन मैंने यह सोचकर डाल रखी है कि कालांतर में पोतों पड़पोतों की जनसंख्या बढ़ेगी तो दो तीन कमर डाल लेंगे। मगर अब माहौल का क्या ठिकाना। मुंबई का बदला बिहार में चुकाया जा रहा है। शंख अमेरिका से बजता है और सेंसेक्स उभारने का पूजन हवन इंडिया में होता है। खर..मुझे डर है कि कल को मेर इस खाली प्लाट पर कोई बंदा आइसक्रीम की फैक्ट्री डाल ले और किसी चवन्नी छाप नेता को स्टूल पर खड़ा करके स्पीच उगलवा दे (हाार पांच सौ देकर)- भाइयों, आज देश को एक्स्ट्रा कमरों की नहीं, आइसक्रीम की सख्त जरूरत है। देश को मिठास और मुलायम चीजों की जरूरत है। आइसक्रीम फैक्ट्री से बेरोगारी दूर होगी। भाड़े के बीस चमचे ताली बजाकर जिन्दाबाद बोल दें। गई जमीन मेर हाथ से। मेर बुजुर्ग दोस्त मौलाना लादेन (अलकायदा वाला नहीं) ने भी सलाह दी- ‘देखो के. पी., दुबला जोरू रखे ही क्यों कि मोहल्ला भर उसे भौजाई कहे। जूती पहनोगे तो कभी न कभी कील चुभेगी ही।’ अपने प्रधानमंत्री जी ने भी कहा है कि देर सबेर हमें झटके लगेंगे ही। अमेरिका के भावी राष्ट्रपति ओबामा ने भी चेतावनी दी है कि मैं अमेरिका की ही नहीं, पूरी दुनिया की तस्वीर बदल डालूंगा। मान लो लखनऊ की भी शक्ल बदल दी तो तुम्हारी जमीन का क्या होगा? आफत, अमेरिका और आतंकवादी का क्या भरोसा? इधर कई दिनों से सपने में आइसक्रीम के कप और स्लाइसें देख रहा हूं। मधुमेह का रोगी सपने में भी आइसक्रीम देखे तो शूगर धायं से बढ़ जाती है। मौलाना लादेन ने मेरी जमीन के लिए मुनासिब खरीदार ढूंढ लिया है। अब मेरी बला से कि प्लाट पर आइसक्रीम फैक्ट्री लगे या गोबर गैस प्लान्ट। अपने पौत्रों से मैंने कहा दिया है कि आप पाकिस्तान में सस्ती जमीन लेकर घर डालना। उधर आना होगा तो मुशर्रफ भाई के घर ठहर लूंगा। जसे कौड़ी के तीन वह, वैसा मैं। खूब गुजरगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जमीन बनाम आइसक्रीम