अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज ठाकरे पर लगाम कसनी होगी

ौन देखता है मिलकर टीवी देश की सर्वोच्च अदालत द्वारा केन्द्र सरकार से पूछा गया यह सवाल, कि ‘क्या 365 दिनों में ऐसा कोई दिन है, जिस दिन परिवार के साथ बैठकर टीवी देख सकें और टीवी में ऐसा कोई प्रोग्राम आ रहा हो जो संवेदनाओं को घायल न करता हो?’ यह सवाल जन भावनाओं व आकांक्षाओं के अनुरूप भी है। आसिफ खान, शाहदरा, दिल्ली राज का राज मुंबई में राज ठाकर की घिनौनी हरकतों से एसा लगता है कि शायद राज ठाकर पूर महाराष्ट्र पर अपना राज जमाना चाहते हैं। यदि ऐसा न होता तो रलवे की परीक्षा देने आये छात्रों पर यूं हमला नहीं होता। यह कोई बात नहीं हुई कि आप किसी को मार-पीटकर, किसी पर जबर्दस्ती अपनी हुकूमत जमा कर अपनी गुंडागर्दी का डंका बजायें या अपनी ताकत दिखाएं। अगर इसी तरह और पार्टियां भी अपने-अपने राज्य में करने लगीं तो देश में गुंडाराज हो जायेगा। मीता सरगवान, ओल्ड डालनवाला जबरन बन्धक बनाना गलत आज देश में ‘बंद’ प्रथा चिंगारी की तरह देश के विकास को स्वाहा कर रही है। आजादी का अर्थ बन गया है कि लोग अपनी बात मनवाने के लिए धरने पर बैठें, भाषणबाजी करं। संविधान किसी को यह हक नहीं देता कि किसी को काम पर जाने से रोके। बंद के उपद्रव में असामाजिक तत्व काले कारनामों से धरती माता को लहूलुहान बना देते हैं। पारुल शर्मा, हर्रावाला सतर्क नागरिक संगठन हिन्दुस्तान 27 अक्तूबर 2008 के मुख्य पृष्ठ पर विधायक जी का रिपोर्ट-कार्ड दिल्ली वासियों द्वारा अपने विधायक को जांचने का श्रीयंत्र होगा। इसके अतिरिक्त विधायकों के प्रति मेर भी कुछ सवाल हैं, जिन्हें यहां प्रस्तुत कर रहा हूं:ड्ढr 1. किस विधायक ने सदन की बैठकों में सर्वाधिक झपकियां ली हैं? 2. किस विधायक ने सर्वाधिक शिलान्यास किए हैं? 3. किस विधायक ने पार्टी के सुप्रीमो के जन्मदिन पर जमकर पोस्टरबाजी की है? 4. कौन पार्टी की रैली के लिए अधिक बसें भर कर लाया है? 5. किसने लम्बे समय तक अपने क्षेत्र से मुख मोड़ा है? 6. किसका हाजमा स्ट्रांग है? 7. किसने सबसे अधिक कार्य के बोझ की थकानें पहाड़ों में उतारी हैं? 8. किसने चुनाव प्रचार के दौरान झुग्गी-झोपड़ियों के सर्वाधिक बच्चों को गोद में उठाया है? राजेन्द्र कुमार सिंह, रोहिणी, दिल्ली

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राज ठाकरे पर लगाम कसनी होगी