अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक की टिप्पणी पर बिफरा भारत

भारत ने जम्मू कश्मीर के बारे में संयुक्त राष्ट्र में दिए गए पाकिस्तान के बयान की कड़ी निंदा करते हुए इसे अस्वीकार्य बताया है। भारत ने मंगलवार को साफ कहा कि पाकिस्तान का कश्मीर में ‘आत्म निर्णय’ की वकालत करना भारत को मंजूर नहीं है और इस तरह की बयानबाजी भारत के आंतरिक मामलों में सीधा हस्तक्षेप है। गौरतलब है कि पााकिस्तान के प्रतिनिधि ने सोमवार को यहां संयुक्त राष्ट्र महासभा के 63वें सत्र को संबोधित करते हुए आरोप लगाया था कि जम्मू कश्मीर में पिछले कई वर्षो से मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है। भारतीय प्रतिनिधि राजीव शुक्ला ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, ‘जम्मू कश्मीर के बारे में पाकिस्तान की टिप्पणी भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप है। उन्होंने कहा कि ये आरोप तथ्यों से परे और गलत हैं तथा इनका वास्तविकता से कुछ लेना देना नहीं है।’ उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर के लोगों ने भारत की स्वतंत्रता के समय आत्मनिर्णय के अपने अधिकार का इस्तेमाल किया था। उसके बाद से राज्य के लोग कई बार कई स्तर पर स्वतंत्र तथा निष्पक्ष चुनावों में भाग ले चुके हैं। पाकिस्तान मानवाधिकारों को लेकर चिंता जताता रहता है लेकिन उसने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में लोगों को छोटे से छोटे अधिकारों तक से वंचित रखा हुआ है। उन्होंने दोहराया कि भारत सरकार कश्मीर सहित सभी मुद्दों पर बातचीत के लिए तैयार है। शुक्ला ने कहा कि भारत ने हमेशा दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय वार्ता की वकालत की है जिससे कि शांति, स्मृद्धि और सुरक्षा की दिशा में एकजुट होकर काम किया जा सके।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक की टिप्पणी पर बिफरा भारत